तीन जवानों की कुर्बानी का भारत ने लिया बदला, मारे 7 पाकिस्तानी सैनिक

पाकिस्तान की ओर से सीमा पर शुक्रवार को भी गोलीबारी की गई. नॉर्थ कश्मीर में एलओसी से सटे तीन सेक्टरों में पाकिस्तान ने सीजफायर का उल्लंघन किया. इस गोलाबारी में भारतीय सेना के तीन जवान और बीएसफ के एक एसआई शहीद हो गए. इसमें सेना के कुल चार जवान शहीद हुए हैं. इसके साथ साथ पांच जवान घायल भी हुए हैं. वहीं अंधाधुंध फायरिंग में 6 आम नागरिकों की मौत हुई है और 12 लोग घायल हो गए हैं.

मारे पाकिस्तान के सात जवान

तीन जवानों की कुर्बानी का भारत ने लिया बदला, मारे 7 पाकिस्तानी सैनिक

सूत्रों के अनुसार जवाबी टक्कर  में भारत ने पाकिस्तान के सात जवान मार गिराए हैं. मारे गए पाकिस्तानी जवानों में 2-3 एसएसजी कमांडर भी शामिल हैं. भारतीय सेना के मुताबिक पाकिस्तान की तरफ से उकसावे की हरकत की शुरुआत की गई. पाकिस्तान ने उरी से लेकर गुरेज तक के क्षेत्रों में सीजफायर का उल्लंघन किया, जिसका मुंहतोड़ जवाब भारतीय सेना दे रही है. भारतीय सेना ने पाकिस्तान के बंकर भी तबाह किए हैं.

बीएसएफ एसआई राकेश डोवाल हुए शहीद

तीन जवानों की कुर्बानी का भारत ने लिया बदला, मारे 7 पाकिस्तानी सैनिक

बताया जा रहा है पाकिस्तान की तरफ से किए गए सीजफायर उल्लंघन में पहले बीएसएफ एसआई राकेश डोवाल शहीद हुए इसके बाद सेना के दो अन्य जवान भी इस गोलाबारी में मारे गए. वहीं, तीन आम नागरिकों के मारे जाने की भी खबर है. एक अन्य नागरिक की हालत गंभीर बताई जा रही है. उधर पुंछ में भी सेना के दो जवान और पांच आम नागरिक घायल हुए हैं. पाकिस्तान की तरफ से किए गए सीजफायर में पुंछ इलाके में कुल सात लोग घायल हुए हैं.

राहुल गांधी ने किया ट्वीट

तीन जवानों की कुर्बानी का भारत ने लिया बदला, मारे 7 पाकिस्तानी सैनिक

राहुल गांधी ने इस घटना को लेकर ट्वीट किया है उन्होंने लिखा है कि ”पाकिस्तान जब भी सीज़फ़ायर का उल्लंघन करता है, उसका डर व कमज़ोरी और भी साफ़ हो जाते हैं. त्योहार पर भी अपने परिवारों से दूर, भारतीय सेना के जवान हमारे देश की सुरक्षा में डटे हैं और पाकिस्तान के घृणित मंसूबों को ध्वस्त कर रहे हैं. सेना के हर जवान को मेरा सलाम.”

इस घटना पर पीपुल्स कांग्रेस के नेता सज्जाद लोन ने चिंता जाहिर की है. उन्होंने कहा कि, पुंछ उरी और टंगडार (कुपवाड़ा) में गोलाबारी में निर्दोषों की जान चली गई है. इस घटना की निंदा करने के लिए सिर्फ शब्द ही काफी नहीं हैं. उम्मीद है कि प्रशासन घायल परिवारों को मदद मुहैया कराएगा. मेरी संवेदना इन इलाके के लोगों के साथ है.

Shukla Divyanka

मेरा नाम दिव्यांका शुक्ला है। मैं hindnow वेब साइट पर कंटेट राइटर के पद पर कार्यरत...