भारत की अर्थव्यवस्था गिरी पहली बार इतने निचले स्तर पर पहुंची
/

भारत की अर्थव्यवस्था गिरी, पहली बार इतने निचले स्तर पर पहुंची

भारत की अर्थव्यवस्था पहली बार मंदी का शिकार हो रही है जुलाई और सितंबर के तिमाही में भारत की जीडीपी में 8.6 परसेंट तक भारी गिरावट देखने को मिली है. बुधवार को रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया द्वारा प्रकाशित हुए एक लेख में इस बात का जिक्र किया गया है. आरबीआई के अधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि, ”इस समय वित्त वर्ष में पहली बार छमाही में भारत की जीडीपी ग्रोथ माइनस में आने वाली है. इससे पहले अप्रैल से लेकर जून तिमाही में भी भारत की जीडीपी ग्रोथ में 23.9 पर्सेंट गिरावट आई थी. अगर बात की जाए सितंबर में समाप्त तिमाही की तो इसमें 8.6% तक गिरावट देखने को मिलेगी.

भारत की अर्थव्यवस्था गिरी, पहली बार इतने निचले स्तर पर पहुंची

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया द्वारा लगाए गए अनुमान के मुताबिक इस पूरे साल में ग्रोथ नेगेटिव ही रहेगी. वित्तवर्ष 2020 21 में आर्थिक विकास दर माइनस 9.5 पर्सेंट तक रह सकेगी. आऱबीआई के मॉनिटरी पॉलिसी डिपार्टमेंट के पंकज कुमार द्वारा लिखे गए एक शीर्षक में कहा गया है कि, ”इतिहास में ऐसा पहली बार होगा जब भारत की अर्थव्यवस्था तकनीकी तौर पर मंदी में आ रही है”. आरबीआई की ओर से Economic Activity Index को 27 मासिक संकेतकों के जरिए जारी किया गया है.

भारत की अर्थव्यवस्था गिरी, पहली बार इतने निचले स्तर पर पहुंची

 

खबरों के मुताबिक आई रिपोर्ट में यह उम्मीद जताई जा रही हैं कि, धीरे-धीरे सभी स्थितियां सामान्य हो रही हैं. साल 2020 के मई जून में अर्थव्यवस्था का संचालन शुरू हो चुका है, जिसके बाद स्थितियों में तेजी से सुधार होगा और जल्द ही यह संकट खत्म भी होने वाला है. देश में कोरोना महामारी के बाद मार्च के आखिरी सप्ताह से लॉकडाउन लागू कर दिया गया था. सरकार द्वारा लॉकडाउन लगभग 3 महीनों तक सख्ती से लागू हुआ था. इस लॉक डाउन का सबसे ज्यादा असर जीडीपी दर में गिरावट के तौर पर सामने आया.

भारत की अर्थव्यवस्था गिरी, पहली बार इतने निचले स्तर पर पहुंची

 

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के गवर्नर शक्ति कांत दास ने बताया था कि इस साल की आखिरी तिमाही तक अर्थव्यवस्था पॉजिटिव में आ जाएगी. बता दें, जो अप्रैल-जून तिमाही में भारत की जीडीपी ग्रोथ -23.9 पर्सेंट रही थी वह दुनिया के कई विकसित और विकासशील देशों के मुकाबले काफी कमजोर थी, इसी कारण दूसरी तिमाही में गिरावट का अनुमान लगाए जाने के बाद यह चिंता का विषय बना.

मेरा नाम उर्वशी श्रीवास्तव है. मैं हिंद नाउ वेबसाइट पर कंटेंट राइटर के तौर पर कार्य करती हूं. वैसे तो मुझे ऑनलाइन वेब पर हर बिट्स की खबर पर काम करना पसंद है, लेकिन मेरा रुझान मनोरंजन और करंट अफेयर की खबरों पर ज्यादा रहता है. इसके अलावा मुझे देश-विदेश से जुड़ी हर खबरों पर नजर रखना और जानकारी लेना पसंद है.