आतंकियों से मुठभेड़ में शहीद हुआ जौनपुर का लाल
/

आतंकियों से मुठभेड़ में शहीद हुआ जौनपुर का लाल, जवाबी कार्रवाई में आतंकी भी ढेर

जम्मू-कश्मीर में पुलवामा जिले के कमराजीपोरा इलाके में बुधवार सुबह आतंकियों से हुई मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने एक आतंकी को मार गिराया है, जबकि इस दौरान एक जवान शहीद हो गया।

जौनपुर- जम्मू-कश्मीर में पुलवामा जिले के कमराजीपोरा इलाके में बुधवार सुबह आतंकियों से हुई मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने एक आतंकी को मार गिराया है, जबकि इस दौरान एक जवान शहीद हो गया। आतंकियों से मुठभेड़ में शहादत देने वाला यह जवान 2014 में सेना में भर्ती हुआ जौनपुर का बेटा जिलाजीत यादव है। देश की रक्षा करने वाला वीर सपूत अपने मां-बाप का इकलौता पुत्र था। अभी वह तीन माह पूर्व ही एक बच्चे का पिता बना था। जिलाजीत के शहीद होने की मनहूस खबर मिलते ही परिवार सहित पूरे गांव में कोहराम मच गया है।

कल आएगा पार्थिव शरीर

जलालपुर थाना के बहादुरपुर इजरी गांव के निवासी 26 वर्षीय जिलाजीत यादव के शहीद होने की खबर मिलते ही परिवार के लोगो पर मानों पहाड़ सा टूट गया। जिलाजीत की शहादत की सूचना मिलते ही घर से लेकर इलाके मे मातम पसरा हुआ है। घर की महिलाओं, परिजनों का हाल रो-रोकर बेहाल सा हो गया है। बताया जा रहा है कि शहीद का पर्थिव शरीर गुरूवार को आएगा।

दो वर्ष पहले ही हुआ है पिता का निधन

जिलाजीत के पिता कांता प्रसाद यादव का दो वर्ष पहले निधन हो चुका है। घर पर मां उर्मिला और पत्नी पूनम अपने सात माह के बेटे के साथ चाचा राम इकबाल यादव, जवाहर यादव के साथ रहती हैं। जिलाजीत की दो बहनें हैं। जिलाजीत ने सरस्वती निकेतन इंटर कॉलेज बैरीपुर सिरकोनी से इंटर मीडिएट करने के बाद सेना में भर्ती हो गए थे।

आतंकियों के पास मिला आपत्तिजनक सामान

पुलवामा में बुधवार की भोर में शुरू हुए मुठभेड़ में एक आतंकी को भी मार गिराया गया है। फिलहाल इलाके में सर्च ऑपरेशन जारी है। सुरक्षा बलों को खुफिया एजेंसियों को सूचना मिली थी कि पुलवामा के कमराजीपोरा में एक बाग में आतंकी छिपे हैं। सूचना मिलते ही सुरक्षाबलों ने इलाके को घेर लिया और तलाशी अभियान चलाया।

खुद को घिरा देख आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग कर दी। सुरक्षाबलों ने भी जवाबी कार्रवाई की। इस दौरान जिलाजीत शहीद हो गए। मारे गए एक आतंकी के पास से एक-47, ग्रेनेड के साथ ही अन्य आपत्तिजनक सामान बरामद हुआ है।