कोलकाता के एक पंडाल में डॉक्टर के रूप में आई माता रानी
//

कोलकाता के एक पंडाल में डॉक्टर के रूप में आई माता रानी, पुलिस बने गणेश जी

इस बार माता का आगमन कोरोना के दौरान ही हुआ है। ऐसे में माता रानी के पंडाल एकदम अलग ही दिखाई दे रहे है। इस बार पंडालो में बहुत कम भक्त ही दिखाई दे रहे है। इसी के साथ साथ इस बार दुर्गा पूजा में माता रानी की मूर्ति के साथ नए नए एक्सपेरिमेंट किये जा रहे है। कोलकाता में ऐसा ही  प्रयोग एक देवी पंडाल में देखने को मिला है, जहां पंडाल में मा दुर्गा के रूप को डॉक्टर का रूप दिया गया है और इसी के साथ साथ कोरोना को महिषासुर की जगह कोरोनसुर के रूप में दिखाया गया है। ये तस्वीरें आजकल सोशल मीडिया पर काफी चर्चा का विषय बनी हुई है।

गणेश जी बने पुलिसमैन

कोलकाता के एक पंडाल में डॉक्टर के रूप में आई माता रानी, पुलिस बने गणेश जी

जिस तरह माता रानी को डॉक्टर का वेश दिया गया ठीक उसी तरह भगवान गणेश को पुलिस की वेशभूषा पहनाई गयी है। इतना ही नही पंडाल में इसके अतिरिक्त कोरोना काल मे समाजसेवी और सफाईकर्मियो के योगदान की झलक भी दिखाई दे रही है।

शशि थरूर ने तस्वीर पर किया कमेंट

सोशल मीडिया में चर्चित इन फोटोज की काफी प्रशंशा हो रही है। मातारानी की इन अद्भुद फोटोज को देखकर कांग्रेसी नेता शशि थरूर ने फ़ोटो को शेयर करते हुए लिखा है कि कोविड 19 के थीम पर कोलकाता में मां दुर्गा की प्रतिमा बनाई गयी है, जो बेहतरीन है।मूर्ति को बनाने वाले और डिजाइन करने वाले लोगों को प्रणाम’।

मूर्ति में प्रवासी महिला की भी दिखी झलक

कोलकाता के एक पंडाल में डॉक्टर के रूप में आई माता रानी, पुलिस बने गणेश जी

कोलकाता शहर में बीते दिन एक पंडाल में दुर्गा माता की जगह एक प्रवासी महिला की मूर्ति तैयार की। बनाई गई मूर्ति में एक माँ अपने बच्चों के साथ दिखाई गई है। केवल दुर्गा माँ को ही नाही वरन पंडाल में स्थापित अन्य माता की मूर्ति को प्रवासी श्रमिको की मूर्तियों से बदल दिया गया है। इस तरह से ये कहना गलत नही होगा कि कोरोना का असर नवरात्रि के त्योहार में देखने को मिल रहा है।