2019 में भारत में कुल 1.39 लाख लोगों ने की आत्महत्या
/

NCRB ने किया हैरान, 2019 में कुल 1.39 लाख लोगों ने की आत्महत्या, 93000 से ज्यादा युवाओं ने खत्म की अपनी जीवन लीला

बॉलीवुड स्टार सुशांत सिंह राजपूत इस साल 14 जून को मुंबई में बांद्रा स्थित अपने अपार्टमेंट में गले में फंदा डाल कर सीलिंग फैन से लटके पाए गए।

नई दिल्ली- बॉलीवुड स्टार सुशांत सिंह राजपूत इस साल 14 जून को मुंबई में बांद्रा स्थित अपने अपार्टमेंट में गले में फंदा डाल कर सीलिंग फैन से लटके पाए गए। सुशांत की मौत खुदकुशी थी या नहीं ये तो जांच पूरी होने के बाद ही साफ हो सकेगा। लेकिन उनकी मौत ने पूरे देश को हिला दिया। वहीं नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो की रिपोर्ट जारी हुई है। जिसमे आये आंकड़ों ने लोगों को हैरान कर दिया है।

भारत में 2019 में 1.39 लाख से ज्यादा लोगों ने खुदकुशी की। 2019 में जितनी खुदकुशी की घटनाएं हुईं, उनमें 67% युवा वयस्क (18-45 आयुवर्ग) के थे। जारी हुई रिपोर्ट “एक्सीडेंटल डेथ एंड सुसाइड इन इंडिया 2019’’ के मुताबिक 2019 में लगभग 1.39 लाख लोगों ने खुदकुशी की, जिनमें से 93,061 युवा वयस्क थे।

इस रिपोर्ट में खुदकुशी के कारणों का विस्तृत उम्र-वार विश्लेषण किया गया है, जिससे पता चलता है कि परिवार के मसले, प्रेम प्रसंग, नशीली दवाओं का दुरुपयोग, मानसिक बीमारी- युवाओं में खुदकुशी के प्रमुख कारण हैं। 74,629 लोगों (53.6%) ने फांसी लगा कर जान दी। जबकि बाकी लोगों ने किसी और जरिये से अपने जीवन की लीला समाप्त कर दी।

43,000 किसानों और दिहाड़ी मजदूरों ने आत्महत्या की

राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (NCRB) के हालिया आंकड़ों के मुताबिक 2019 में करीब 43,000 किसानों और दिहाड़ी मजदूरों ने आत्महत्या की। आंकड़ों के अनुसार, वर्ष के दौरान 32,563 दिहाड़ी मजदूरों ने अपना जीवन समाप्त कर लिया। कुल मामलों में यह संख्या लगभग 23.4 प्रतिशत रही। वहीं एक साल पहले 2018 में यह संख्या 30,132 थी। एनसीआरबी आंकड़ों के मुताबिक 2019 में कृषि क्षेत्र से जुड़े 10,281 लोगों (जिसमें 5,957 किसान और 4,324 खेतिहर मजदूर शामिल हैं) ने आत्महत्या की।

2019 में 93,061 युवाओं ने चुनी मौत

2019 में कुल 1.39 लाख खुदकुशी के केस दर्ज हुए। इनमें से करीब 93,061 यानी 67 फीसदी युवा थे, जिनकी उम्र 18 से 45 वर्ष के बीच थी। इनमें से 31,725 (34 प्रतिशत) खुदकुशी पारिवारिक समस्याओं के कारण हुईं। 7,293 यानी 7.3 प्रतिशत लोगों ने विवाह संबंधी मुद्दों के चलते खुदकुशी की।

NCRB की रिपोर्ट में खुदकुशी के कारणों का विस्तृत उम्र-वार विश्लेषण किया गया है, जिससे पता चलता है कि परिवार के मसले, प्रेम प्रसंग, नशीली दवाओं का दुरुपयोग, मानसिक बीमारी- युवाओं में खुदकुशी के प्रमुख कारण हैं। रिपोर्ट के अनुसार, 18 साल से अधिक और 45 से कम उम्र के लोगों में पारिवारिक समस्याएं खुदकुशी का सबसे बड़ा कारण हैं।