सुशांत की मौत के कारणों से जल्द हटेगा पर्दा, नीतीश ने की CBI जांच की सिफारिश
/

सुशांत की मौत के कारणों से जल्द हटेगा पर्दा, नीतीश ने की CBI जांच की सिफारिश

बिहार सरकार ने बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की आत्‍महत्‍या मामले की जांच सीबीआई से कराने की सिफारिश कर दी है।

पटना- बिहार सरकार ने बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की आत्‍महत्‍या मामले की जांच सीबीआई से कराने की सिफारिश कर दी है। सीएम नीतीश कुमार ने कहा है कि सुशांत के परिवार ने मांग की है कि इसकी सीबीआई जांच हो जाए तो बेहतर होगा। उनकी इसी मांग पर तत्काल बिहार पुलिस सीबीआई जांच की सिफारिश करेगी।

सीएम ने कहा कि सीबीआई का दायरा और बड़ा है। यहां एफआईआर दर्ज हुई है, इसलिए बिहार पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। उन्होंने कहा, सुप्रीम कोर्ट में जो भी बात है, उसे रखा जाएगा। आज सीबीआई जांच के लिए जो भी प्रक्रिया है उसे आज पूरा कर लिया जाएगा।

परिवार की मांग पर लिया फैसला

सीएम नीतीश ने कहा कि हमारे डीजीपी ने आज सुशांत के परिवार से बात की है। उनके परिवार ने मांग की है कि इसकी सीबीआई जांच हो जाए तो बेहतर होगा। उनकी इसी सहमति पर तत्काल बिहार पुलिस सीबीआई जांच की सिफारिश करने वाली है। इसके लिए बिहार सरकार की सहमति ली जाएगी जो कि मिल जाएगी।

उन्होंने कहा, इसके लिए जो भी कानूनी प्रक्रिया है, शुरू कर दी गई हैं। हमारा प्रयास है कि यह सब आज ही हो जाए। हम लोग शुरू से कह रहे थे कि इसकी सीबीआई जांच हो, लेकिन हम लोग तब ही कर सकते थे, जब सुशांत के पिता सहमति देते और अब ऐसा ही हुआ है।

सीबीआई इसे टेकओवर कर लेगा। जो मेरे हिसाब से सबसे सही है। सीएम नीतीश ने आगे कहा,

“मुझे ऐसा लगता है कि सीबीआई जांच करेगी तो मेरी समझ से जांच और बेहतर करेगी। सीबीआई का दायरा और बड़ा है। यहां एफआईआर दर्ज हुई है, इसलिए बिहार पुलिस ने जांच शुरू कर दी है।”

उन्होंने कहा,

“सुप्रीम कोर्ट में जो भी बात है, उसे रखा जाएगा। आज सीबीआई जांच के लिए जो भी प्रक्रिया है उसे आज पूरा कर लिया जाएगा। सुप्रीम कोर्ट अपने हिसाब से फैसला लेगा।”

दोनों राज्यों की पुलिस के बीच नहीं दिखा तालमेल

इस मामले में बिहार और मुंबई पुलिस के बीच तालमेल का अभाव दिख रहा था। मुंबई पुलिस पर सहयोग न करने के आरोप और पटना एसपी सिटी को क्वारंटाइन करने के बादइ मुंबई पुलिस कमिश्नर ने कहा था कि ये उनका अधिकार क्षेत्र है। मुंबई के पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने कहा, हमने देखा उन्हें (बिहार पुलिस) एक बड़ी कार में और उसके बाद एक ऑटो में। उन्होंने हमें कार के लिए नहीं कहा।

उन्होंने हमें केस के लिए डॉक्यूमेंट्स मांगे। हमने उनसे कहा कि यह हमारा अधिकार क्षेत्र है। परमबीर सिंह ने आगे कहा, उन्हें यह साझा करना चाहिए कि कैसे वे हमारे अधिकार क्षेत्र में आ गए। हम इसकी जांच के लिए कानूनी राय ले रहे हैं।