प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बताया कैसे नए किसान बिल से बदल जाएगी किसानों की किस्मत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नए कृषि कानून को किसान के लिए अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ में हितेषी बताते हुए इस बारे में बात की है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महाराष्ट्र के धुले शहर के किसान जितेंद्र भोइजी के बारे में उदाहरण देते हुए बताया कि, ”किस तरह से उन्होंने नए कानून का फायदा उठाया और अपना बकाया भी वसूल कर लिया है.

पीएम ने कहा कि, अब ऐसे कानून की ताकत हमारे किसान भाई के पास थी तो उनकी समस्या का समाधान तो होना ही होना है. उन्होंने शिकायत की और कुछ ही दिनों में उनका बकाया पूरा वसूल चुका दिया गया”.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बताया कैसे नए किसान बिल से बदल जाएगी किसानों की किस्मत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘मन की बात’ में दिया उदाहरण

मासिक रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ में आप सभी को जानना चाहिए कि महाराष्ट्र के धुले जिले के किसान जितेंद्र भोइजी ने नए कसी कानूनों का किस तरह से फायदा उठाया जितेंद्र भोइजी ने मक्के की खेती की थी और सही दामों के लिए उसे व्यापारियों को बेचने का फैसला किया था. फसल की कुल कीमत तय की गई तीन लाख 32 हजार रुपये, जितेन्द्र भोइजी को 25 हजार रुपये पहले से ही एडवांस में मिल चुके थे.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बताया कैसे नए किसान बिल से बदल जाएगी किसानों की किस्मत

किसान को मिला उनका बकाया पेमेंट

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आगे बताया कि, ”जितेन्द्र भोइजी ने पहले ही तय कर लिया था कि बाकी पैसा आने 15 दिन के भीतर मिल जाएगा लेकिन बाद में धीरे-धीरे परिस्थितियां ऐसी बनने लगी कि, उन्हें बाकी का पेमेंट नहीं मिल सका. किसान ने फसले खरीद लो महीनो महीनो तक उनको पेमेंट ना करो यानी कि, मक्का खरीदने वाले लोग वर्षों से चली आ रही उसी परंपरा को निभाते चले आ रहे थे”.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बताया कैसे नए किसान बिल से बदल जाएगी किसानों की किस्मत

पीएम ने बताया कि, ” इसी तरह धीरे-धीरे 4 महीने बीत गए लेकिन जितेन्द्र भोइजी को तय किया गया पेमेंट नहीं मिला. इस स्थिति में उनकी मदद सितंबर में पास हुए नए कृषि कानून से हुई. उन्होंने शिकायत दर्ज करवाई और उनका पूरा बकाया पेमेंट मिला”.

इस कानून में यह तय किया गया था कि, फसल खरीदने के 3 दिन में ही किसान को पूरा पेमेंट कर दिया जाएगा. यदि पेमेंट नहीं होता है, तो किसान इस बात को लेकर शिकायत दर्ज कर सकता है. इसके बाद नए कृषि कानून आने के बाद किसानों को काफी लाभ मिल रहा है. इस तरह से आप देख सकते हैं कि किस तरह से नए कृषि कानून ने किसानों के जिंदगी बदल दी है.

Urvashi Srivastava

मेरा नाम उर्वशी श्रीवास्तव है. मैं हिंद नाउ वेबसाइट पर कंटेंट राइटर के तौर पर...