किसान आंदोलन को लेकर कड़ाके की ठंड में सड़क पर बैठे बाप को देख बेटियों ने अमेरिका से भिजवाए 10 लाख रुपए के गर्म कपड़े

कड़ाके की ठंड के बीच में दिल्ली जयपुर हाईवे 48 पर हरियाणा-राजस्थान सीमा के पास रेवाड़ी स्थित खेड़ा बॉर्डर पर 15 दिन से लगातार कृषि कानून को लेकर आंदोलन जारी है। इनमें से एक किसान पंजाब के कपूरथला से है, जिनका नाम सरदार सतनाम सिंह है। रविवार के दिन सतनाम सिंह भयंकर कड़ाके की ठंड के बीच ही किसानों को गर्म कपड़े बांटते हुए दिखाई दिए। इसी दौरान उन्हें कपड़े बांटते हुए सभी ने उनसे पूछा कि, उनके पास इतने सारे गर्म कपड़े कहां से आए?

धरने पर बैठे देख भिजवाए गर्म कपड़े

कपड़ों के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि, ‘ उनकी बेटी गुरप्रीत कौर और तलविंदर कौर अमेरिका में रह रहे हैं। उन्होंने टीवी पर हम सब को ठंड के बीच में धरने पर बैठे हुए देखा तो 10 लाख रुपए के कीमती गर्म कपड़े भेजे हैं’। सतनाम सिंह की बेटियों को इस तरह कड़ाके की ठंड में किसानों की हालत देखी नहीं गई।

किसान आंदोलन को लेकर कड़ाके की ठंड में सड़क पर बैठे बाप को देख बेटियों ने अमेरिका से भिजवाए 10 लाख रुपए के गर्म कपड़े

आगे बात करते हुए सतनाम सिंह ने बताया कि, ‘ उनकी बेटियों का कहना है कि, खेती की वजह से ही भी आज अमेरिका में रहती हैं। ऐसे में आज जब किसानों पर और उनके पिता पर मुश्किल है, तो हम सब का फर्ज है, कि हम उनकी सहायता के लिए आगे आए’।

खेती की कमाई से ही बेटियां गई अमेरिका

पंजाब के रहने वाले किसान सतनाम सिंह ने ट्रक में कपड़े भरकर भेजें जो कि, सभी गर्म कपड़े किसानों में वितरित किए गए। जिससे की खेती बचाने के लिए चलाए जा रहे, किसान आंदोलन में बैठे हुए सभी किसानो की ठंड से रक्षा हो सके।

सरदार जी का कहना है कि, खेती से की गई कमाई से ही उन्होंने अपनी बेटियों को अमेरिका में भेजा था। आज दोनों बेटियां वहीं पर सेटल हो गई हैं। वह किसानों की सहायता के लिए हर संभव प्रयास करेंगी।

किसान आंदोलन को लेकर कड़ाके की ठंड में सड़क पर बैठे बाप को देख बेटियों ने अमेरिका से भिजवाए 10 लाख रुपए के गर्म कपड़े

हरियाणा-राजस्थान की सीमा पर 13 दिसंबर से पंजाब गुजरात महाराष्ट्र राजस्थान के अलावा कई अन्य राज्यों से किसान लगातार नए कृषि कानून के विरोध में धरने पर बैठे हुए हैं। एन आई आर बेटियों ने किसानों के लिए गर्म कपड़ों के साथ-साथ तेल और साबुन भी भिजवाया है, जो कि तारीफ के काबिल है।

Urvashi Srivastava

मेरा नाम उर्वशी श्रीवास्तव है. मैं हिंद नाउ वेबसाइट पर कंटेंट राइटर के तौर पर...