राम मंदिर पर सपा सांसद शफीकुर्रहमान का विवादित बयान

राम मंदिर पर सपा सांसद शफीकुर्रहमान का विवादित बयान-जहां मस्जिद एक बार बन गई, वह जमीन हमेशा मस्जिद की

यूपी के संभल से समाजवादी पाार्टी के सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के भूमि पूजन पर विवादित बयान दिया है।

संभल- यूपी के संभल से समाजवादी पाार्टी के सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के भूमि पूजन पर विवादित बयान दिया है। शफीकुर्रहमान बर्क ने कहा कि बाबरी मस्जिद है, थी और रहेगी। सपा सांसद ने आरोप लगाते हुए कहा कि बीजेपी सरकार ने ताकत के बल पर कोर्ट से फैसला कराया और अयोध्या में मंदिर की बुनियाद रख दी। यह कानूनी इंसाफ नहीं है, बल्कि हमारे साथ बहुत बड़ी नाइंसाफी हुई है। कहा कि मस्जिद के स्थान पर मंदिर की बुनियाद रखना सेक्युलरिज्म और जम्हूरियत का कत्ल करना है।

मस्जिद थी, है और मस्जिद ही रहेगी

सांसद शफीकुर्रहमान ने कहा कि हमने सब्र से काम लिया है। आज भी हम अल्लाह के भरोसे पर यह उम्मीद करते हैं कि इंशाल्लाह इस जगह पर हमेशा से मस्जिद थी, मस्जिद है और मस्जिद ही रहेगी। इसको कोई मिटा नहीं सकता। सपा सांसद ने कहा कि जिस स्थान पर एक बार मस्जिद बन जाती है, वह जमीन और वह हिस्सा हमेशा मस्जिद का ही रहता है।

अल्लाह के करम पर जिंदा हैं

यही इस्लाम का कानून है। उन्होंने यह भी कहा कि मुसलमानों को डरने की कोई जरूरत नहीं है। हिंदुस्तान के मुसलमान यह समझें कि हम किसी के रहमोकरम पर जिंदा नहीं, बल्कि अल्लाह के करम पर जिंदा हैं। उधर, सपा सांसद के इस बयान के सोशल मीडिया पर उनका वीडियो वायरल हो रहा है। इसे लेकर तरह-तरह की प्रतिक्रियाएं आ रही हैं।

बताते चलें कि इससे पहले ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के एक ट्वीट में जारी बयान से बवाल मचा हुआ है। दरअसल अयोध्या में राम मंदिर के भूमिपूजन पर मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने कहा है कि बाबरी मस्जिद कल भी थी, आज भी है और कल भी रहेगी। हागिया सोफिया इसका बेहतरीन उदाहरण है। मस्जिद में मूर्तियां रख देने, पूजा-पाठ शुरू कर देने या एक लंबे अर्से तक नमाज पर पाबंदी लगा देने से मस्जिद की हैसियत खत्म नहीं हो जाती है।