रिलायंस से जिंदल स्टील तक की सफलता में महिलाओं का है हाथ
/

रिलायंस से जिंदल स्टील तक की सफलता में महिलाओं का है हाथ, जाने किसके पास क्या है जिम्मेदारी

देश के टॉप अमीरों की लिस्ट में भले ही पुरुषों का दबदबा है, लेकिन ऐसी भी कई महिलाएं हैं, जो बड़े घरानों से ताल्लुक रखती हैं. या फिर बिजनेस को नए आयाम दे रही हैं. ऐसे में जेके सीमेंट की हाल ही में चेयरपर्सन बनी सुशीला सिंघानिया से जिंदल स्टील की मुखिया सावित्री जिंदल तक ऐसी कई महिलाएं जिनके पास कारोबार की चाबी उनकी हाथ में है. यही नहीं नई पीढ़ी में भी ईशा अंबानी और रोशनी नाडर जैसी महिलाएं कारोबारी जगत का नया चेहरा नजर आ रही है.

नीता अंबानी रिलायंस के कामकाज में देती हैं दखल

देश के सबसे अमीर शख्स मुकेश अंबानी की पत्नी नीता अंबानी भी रिलायंस इंडस्ट्रीज के कारोबार में बड़ा दखल रखती हैं. वह रिलायंस फाउंडेशन की संस्थापक और चेयरपर्सन हैं. नीता अंबानी रिलायंस इंडस्ट्रीज के कामकाज में भी मुकेश अंबानी की काफी मदद करती हैं और वे रिलायंस इंडस्ट्रीज की नॉन एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर हैं. 2014 में नीता अंबानी रिलायंस इंडस्ट्रीज के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर में शामिल होने वाली पहली महिला बनी थी.

रिलायंस जिओ की बागडोर ईशा अंबानी के हाथ

मुकेश अंबानी की बेटी ईशा अंबानी रिलायंस जियो को आगे बढ़ा रही हैं. अक्सर रिलायंस जिओ के नए प्लान की लॉन्चिंग के दौरान नजर आती हैं. जियो प्लेटफार्म का हिस्सा होने के साथ ही वह रिलायंस रिटेल की डायरेक्टर के तौर पर जुड़ी हैं. 2018 में ईशा अंबानी की शादी पीरामल ग्रुप के आनंद पीरामल से हुई है.

रोशनी नाडर मल्होत्रा कारपोरेशन की एग्जीक्यूटिव और सीईओ रही हैं. वे केवल 28 साल की उम्र में कंपनी की सीईओ बन गई थी. इसके साथ ही असियल टेक्नालॉजी के बोर्ड की वायस चेयर पर्सन और शिव नाडर फाउंडेशन की प्रस्तुति भी रही हैं, रोशनी दिल्ली से पढ़ाई की हैं.

एचसीएल चेयर पर्सन की रोशनी नाडर इस कंपनी के संस्थापक शिव नाडर की बेटी हैं. जुलाई 20 20 में शिव नाडर के पद छोड़ने के बाद एचसीएल टेक्नोलॉजी की कमान रोशनी नाडर के हाथों में आ गई. यह दुनिया की सबसे प्रभावशाली महिलाओं की सूची में 54 स्थान पर थी.

जिंदल ग्रुप की मुखिया सावित्री जिंदल

देश की सबसे अमीर महिला सावित्री जिंदल की मौजूदा संपत्ति 7.1 अरब डॉलर है. फोर्ब्स ने भारत के अमीरों में तीसरे स्थान पर रखा है. 70 वर्षीय सावित्री जिंदल का जिंदल ग्रुप स्टील, पावर, सीमेंट और इंफ्रास्ट्रक्चर के क्षेत्र में काम करता है. जिंदल ग्रुप की स्थापना सावित्री जिंदल के पति ओमप्रकाश जिंदल ने की थी.

9 बच्चों की मां सावित्री जिंदल के बेटे नवीन जिंदल, सज्जन जिंदल भी स्टील कारोबार में बड़ा दखल करते हैं. पति ओपी जिंदल का विमान दुर्घटना में निधन होने के बाद सावित्री ने खोजी कारोबार को संभाला.