केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान की हालत बिगड़ी
/

केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान की हालत बिगड़ी, दिल्ली के अस्पताल में हुए भर्ती

केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान को तबियत बिगड़ने पर दिल्ली के फोर्टिस एस्कॉर्ट अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उन्हें फेफड़ों और किडनी में परेशानी की शिकायत के चलते अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

नई दिल्ली- केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान को तबियत बिगड़ने पर दिल्ली के फोर्टिस एस्कॉर्ट अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उन्हें फेफड़ों और किडनी में परेशानी की शिकायत के चलते अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, 74 वर्षीय रामविलास पासवान को रविवार को अस्पताल में भर्ती कराया गया है, फिलहाल उनकी हालत स्थिर बनी हुई है। उनके इलाज में जुटे डॉक्टरों का कहना है कि पासवान को कई तरह की परेशानी हैं। उनका हृदय भी ठीक तरीके से काम नहीं कर रहा है, लेकिन राहत की बात ये है कि फिलहाल उनकी हालत स्थिर है।

छह प्रधानमंत्रियों के साथ काम कर चुके हैं रामविलास

रामविलास पासवान छह प्रधानमंत्रियों के साथ काम कर चुके हैं जो अपने आप में अनोखा रिकॉर्ड है। रामविलास पासवान उपभोक्ता मामलों और खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मामलों के केंद्रीय मंत्री हैं। वे सोलहवीं लोकसभा में बिहार के हाजीपुर लोकसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते हैं। रामविलास पासवान 32 सालों में 11 चुनाव लड़ चुक हैं। इनमें से वह 9 जीते हैं। 1969 में पहली बार पासवान बिहार के विधानसभा चुनावों में संयुक्‍त सोशलिस्‍ट पार्टी के उम्‍मीदवार के रूप निर्वाचित हुए।

1977 में छठी लोकसभा में पासवान निर्वाचित हुए वहीं साल 1982 में हुए लोकसभा चुनाव में वो दूसरी बार विजयी रहे। 1989 में नवीं लोकसभा में तीसरी बार लोकसभा में चुने गए। 1996 में दसवीं लोकसभा में वे निर्वाचित हुए। 2000 में पासवान ने जनता दल यूनाइटेड से अलग होकर लोकजनशक्‍ति पार्टी का गठन किया।

रूटीन हेल्थ चेकअप के लिए गए अस्पताल

रामविलास पासवान के पुत्र और सांसद चिराग पासवान ने कहा कि पिछले कई सालों से हर 3 से 4 महीने पर पापा का रूटीन हेल्थ चेकअप होता आया है। कोरोना महामारी के कारण रूटीन हेल्थ चेकअप नहीं हो पाया था। सांसद ने कहा, कल देर शाम हमेशा की तरह रूटीन हेल्थ चेकअप के लिए उनको अस्पताल लेकर आया हूं पापा पूरी तरह स्वस्थ है। उनकी सेहत को लेकर आप सब का शुभकामनाओं के लिए आभार।