भाई-बहन बंद कमरे में घंटो अकेले देखते थे यूट्यूब, फिर......
/

भाई-बहन बंद कमरे में घंटो अकेले देखते थे यूट्यूब, जीजा को पता चला तो उड़े होश

आज के दौर में इन्टरनेट हर आयु वर्ग के लिए अपरिहार्य हो गया है। जिस प्रकार समुद्र में आपको मोती भी मिल सकता है और कूड़ा भी ये आपके ऊपर है कि आप क्या चुनना चाहेंगे।

पुणे- आज के दौर में इंटरनेट हर आयु वर्ग के लिए अपरिहार्य हो गया है। जिस प्रकार समुद्र में आपको मोती भी मिल सकता है और कूड़ा भी ये आपके ऊपर है कि आप क्या चुनना चाहेंगे। वैसे ही इंटरनेट के जरिये भी बहुत-कुछ सीख सकते हैं। अच्छी चीज भी और बुरी चीज भी, अगर बुरी चीज सीखेंगे तो नतीजा इन बहन-भाई की तरह हो सकता है। इन बहन-भाई ने सोशल मीडिया पर कोई वीडियो देखा, जिसमें नकली नोट बनाने का तरीका बताया जा रहा था।

इस वीडियो को देख बहन-भाई रातों-रात अमीर बनने का ख्वाब लेकर ये यूट्यूब के जरिये नकली नोट छापने की ट्रेनिंग लेकर कुछ नोट छापे भी लिए। पर उनकी किस्मत ने उनका साथ न दिया एक सब्जी विक्रेता को नकली नोट थमाने के बाद इनकी पोल खुल गई। महिला दो बच्चों की मां है। उसके पति को भी यह अब पता चला कि उसकी पत्नी बंद कमरे में क्या करती थी।

असली नोटों के साथ एक-दो नकली नोट मिलाकर बाजार में चलाते थे

सोशल मीडिया पर वीडियो देखकर नकली नोट बनाने वाले भाई-बहन को पिंपरी पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इनके पास से 50, 100, 200, 500 और 2000 के नकली करेंसी बरामद हुई है।आरोपियों की पहचान सुनीता राय और प्रदीप राय के रूप में हुई है। क्राइम ब्रांच के अधिकारी ने बताया कि ये दोनों असली नोटों के साथ एक-दो नकली नोट मिलाकर उसे बाजार में चला देते थे। इनका टारगेट आमतौर पर बुजुर्ग और गांव के लोग रहते थे। सब्जी मंडी में एक दुकानदार को नकली नोट देने पर पोल खुल गई। पुलिस को संदेह है कि इस गिरोह में इनके साथ और भी कुछ लोग शामिल हो सकते हैं।

दो कलर प्रिंटर और लाखों के नकली नोट हुए बरामद

सुनीता के पति गणेश सावंत खुद आश्चर्य में पड़ गए जब उन्हें पता चला कि उनकी पत्नी ऐसा गैरकानूनी काम करती थी। गणेश ने पुलिस को बताया कि सुनीता अपने भाई के साथ बंद कमरे में घंटों रहती थी। लेकिन कभी उसने पूछा नहीं। हालांकि पुलिस को अंदेशा है कि सुनीता का पति भी इसमें शामिल हो सकता है। पुलिस ने सुनीता के घर से दो कलर प्रिंटर और लाखों के के नकली नोट बरामद किए हैं।