पंजाब के पठानकोट की लड़की ने किया भारत का नाम रोशन
/

भारत की लड़की ने देश का नाम किया रोशन, अमेरिका में 150 देश को पीछे छोड़ किया टॉप

आजकल लड़कियां हर वो काम करने में सक्षम है , जो बाकी के लड़के करते है. ऐसे में पंजाब के पठानकोट में एक ऐसी लड़की का नाम सामने आया है, जिसने हमारे भारत देश का नाम रोशन किया है।आपकों बता दें कि पंजाब के पठानकोट की रहने वाली डॉ. रुचि महाचन ने अमेरिका की मिशीगन स्टेट यूनिवर्सिटी की डॉक्टर रिसर्च एसोसिएशन नेशनल सुपर कंडक्टिंग साइक्लोट्रान लेबोट्ररी में वैज्ञानिक बन भारत का नाम आगे लाया है।

यूनिवर्सिटी की सीट के लिए हुआ था टेस्ट

भारत की लड़की ने देश का नाम किया रोशन, अमेरिका में 150 देश को पीछे छोड़ किया टॉप

यूनिवर्सिटी की एक मात्र सीट के लिए इस साल जनवरी में ऑनलाइन टेस्ट हुआ था। अक्टूबर में इसका रिजल्ट आया है। रुचि महाजन ने 150 देश के कैंडिडेट्स को पीछे छोड़ दिया है। डॉक्टर रुचि ने अपनी इस उपलब्धि का श्रेय अपने माता-पिता को दिया है।

उन्होंने कहा कि जन परिस्थितियों में मेरा पालन-पोषण हुआ है, उसमें परिवार ने मेरा पूरा साथ दिया। रुचि कठुआ के डीएवी  स्कूल से पढ़ाई की हैं।इसके बाद वह चंडीगढ़ आ गईं और पंजाब यूनिवर्सिटी मे गोल्ड मेडलिस्ट बी रहीं। साल 2018 में उन्होंने न्यूक्लियर फिजिक्स में पीएचडी की।

150 लोगों को पछाड़ा

भारत की लड़की ने देश का नाम किया रोशन, अमेरिका में 150 देश को पीछे छोड़ किया टॉप

मिशिगन स्टेट यूनिवर्सिटी में डॉक्टर रिसर्च एसोसिएशन नेशनल सुपर कंडिक्टिंग साइक्लोट्रान लेबोट्ररी में वैज्ञानिक की इकलौती पोस्ट थी। इसके लिए ऑनलाइन टेस्ट करवाया गया था। इसमें 150 देशों के लोगों ने भाग लिया था। रुचि की इस सफलता पर उन्हें ‘गौरव सम्मान’ से नवाजा गया। रुचि शहीद कर्नल केएल गुप्ता की भतीजी है। डॉ. रुचि महाजन की प्रारंभिक शिक्षा कठुआ के डीएवी स्कूल में हुई है। 10वीं और 12वीं की परीक्षा में उन्होंने टॉप किया था।

2009 में सरकारी कालेज चंडीगढ़ से बीएससी, 2012 में एमफिल में टॉप कर पंजाब यूनिवर्सिटी की गोल्ड मेडलिस्ट बनी। परिषद महासचिव कुंवर रविंदर सिंह विक्की ने कहा कि रुचि से पहले इस क्षेत्र की दो बेटियों ने जज बनकर शहर का नाम रोशन किया था। डॉ. रुचि महाचन के इस मेहनत से उनके माता पिता काफी खुश है औऱ अपनी बच्ची पर फक्र कर रहे है।