Brendan Taylor

इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल यानि की आईसीसी (ICC) जिम्बाब्वे (Zimbabwe Team) के पूर्व क्रिकेटर ब्रेंडन टेलर (Brendan Taylor) पर मैच फिक्सिंग में शामिल होने के लिए सभी तरह के क्रिकेट से अगले साढ़े तीन सालों के लिए बैन कर दिया है। ब्रेंडन टेलर ने फिक्सिंग के अलावा एंटी-डोपिंग कोड से जुड़े एक अन्य आरोप को भी स्वीकार किया है। हालांकि Brendan Taylor 2021 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले चुके हैं। आइए बताते है कि आखिर पूरा माजरा क्या है?

फिक्सिंग के जाल में फंसे Brendan Taylor

ब्रेंडन टेलर

दरअसल, हाल ही में इंटरनेशनल क्रिकेटर ब्रेंडन टेलर(Brendan Taylor) ने सोशल मीडिया पर मैच फिक्सिंग को लेकर एक बयान जारी किया है। जिसमें उन्होंने आईसीसी एंटी-करप्शन कोड के चार आरोपों का उल्लंघन करने की बात को स्वीकार किया है। उनके इस खुलासे के बाद क्रिकेट जगत हैरान है। इस बीच आईसीसी ने ब्रेंडन टेलर के खिलाफ सख्त कार्रवाई की है। आईसीसी ने टेलर को साढ़े तीन साल के लिए क्रिकेट के हर फॉर्मेट से बैन कर दिया है।

सोशल मीडिया पर किया खुलासा

ब्रेंडन टेलर (Brendan Taylor) ने सोशल मीडिया पर यह पोस्ट शेयर कर मैच फिक्सिंग को लेकर एक हैरान कर देने वाला बयान दिया है। इस पोस्ट के जरिए उन्होंने बताया कि उन्हें एक भारतीय बिजनेसमैन ने स्पॉट फिक्सिंग के लिए खूब ब्लैकमेल किया जिसकी वजह से उन्हें मानसिक परेशानियों से जूझना पड़ा और अंत में तंग आकर टेलर ने मैच फिक्सिंग को लेकर पूरी कहानी सबके सामने रख दी।

Brendan Taylor Tells About Spot Fixing Case In Cricket Indian Businessman Blackmail Video | Spot Fixing: जिम्बाब्वे के पूर्व कप्तान ने लिखा लंबा चौड़ा लेख, बताया कैसे भारतीय स्पॉट ...

ट्वीटर पर लंबी पोस्ट लिखते हुए टेलर (Brendan Taylor) ने खुलासा किया कि वह साल 2019 में इंडिया आए थे। उन्हें स्पोनसर्शिप डील और जिम्बाब्वे  टी-20 टूर्नामेंट के बारे में बातचीत करने के लिए बुलाया गया था। टेलर उस वक्त आर्थिक तंगी से परेशान चल रहे थे । इसके साथ ही जिम्बाब्वे क्रिकेट बोर्ड ने करीब 6 महीने से उन्हें सैलरी भी नहीं दी थी । इस बीच भारतीय बिजनैसन से बातचीत होने के बाद टेलर को डिनर पर ले जाया गया और ब्लैकमैल की कहानी की शुरूआत यहीं से हुई ।

Icc Bans Former Zimbabwe Captain Brendan Taylor For 3 And A Half Years For Anti Corruption Code Violation | जिम्बाब्वे के धाकड़ बल्लेबाज पर Icc ने लगाया बैन, भ्रष्टाचार के आरोप में

टेलर ने अपने ट्वीट में बताया उस शाम हमने साथ में शराब पी और फिर उन्होंने मुझे खुले तौर पर कोंकीन ऑफर की जिसे वह खुद भी ले रहे थे। अगली सुबह वहीं लोग मेरे कमरे में घुस गए और मुझे मेरी ड्रग्स लेते हुई वीडिया दिखाई और कहा कि मैंने अगर उनके लिए इंटरनेशल क्रिकेट मैचों में स्पॉट फिक्सिंग की बात नहीं मानी तो वह मेरी वीडियो वायरल कर देंगे। जिसके बाद मुझे चिंता होने लग गई।

Brendan Taylor Revelation: ब्रेंडन टेलर के फिक्सिंग विवाद पर इस भारतीय क्रिकेटर का आया कमेंट - Indian Off Spinner Ravichandran Ashwin Reaction On Brendan Taylor Spot Fixing Revelation Tspo - Aajtak

इसके साथ ही उन्होंने बताया कि ”मुझे उन लोगों ने एडवांस में 1500 डॉलर दिए और कहा कि काम होने के बाद बाकी के 2000 डॉलर देंगे। उस वक्त में आर्थिक तंगी से गुजर रहा था। मेरे पास घर जाने के लिए भी पैसे नहीं थे। मैंने उनसे पैसे तो ले लिए लेकर मुझे पता था कि मुझे इन सबसे बाहर निकलना है।बता दें टेलर ने स्वीकारा कि पैसा लेने के बाद उन्होंने कोई भी स्पॉट फिक्सिंग नहीं की और देश से गद्दारी नहीं की। साथ ही विकेटकीपर ने माफी मांगते हुए कहा कि मैंने आईसीसी को बताने में लंबा वक्त लिया। लेकिन मैंने मैच फिक्सिंग के लिए नहीं माना।

3.5 साल के लिए बैन हुए टेलर

इस बीच इंटरनेशनल क्रिकेटर ब्रेंडन टेलर (Brendan Taylor) को आईसीसी ने अगले साढ़े तीन साल के लिए क्रिकेट के हर एक फॉर्मेट से बैन कर दिया है। आईसीसी ने कहा, ‘ब्रेंडन टेलर को सभी क्रिकेट से साढ़े तीन साल के लिए प्रतिबंधित कर दिया गया है, क्योंकि उन्होंने आईसीसी एंटी-करप्शन कोड के चार आरोपों का उल्लंघन किया है और उनके ऊपर अलग से आईसीसी एंटी-डोपिंग कोड का एक आरोप है।