आईसीसी ने इन 2 खिलाड़ियों को पाया मैच फिक्सिंग का दोषी, 8 साल का लगाया बैन

यूएई के दो खिलाड़ियों को आईसीसी ने एंटी करप्शन कोड के तरह आठ सालों के लिए सभी प्रकार के क्रिकेट से प्रतिबंधित कर दिया है, ये बैन यूएई के मोहम्मद नावेद और शैमान अनवर बट को आईसीसी के एंटी-करप्शन ट्रिब्यूनल द्वारा आईसीसी एंटी-करप्शन कोड को भंग करने का दोषी पाए जाने के बाद सभी क्रिकेट पर आठ साल के लिए प्रतिबंध लगा दिया गया है.

शैमान-नावेद पर लगा 8 साल का बैन

यूएई में आईसीसी मेन टी20 विश्व कप 2019 के क्वालिफायर राउंड के मैचों में शैमान अनवर और मोहम्मद नावेद  को भ्रष्ट पाया गया है, जो 16 अक्टूबर 2019 में खेला गया था, लिखित और मौखिक तर्क की पूरी सुनवाई और प्रस्तुति के बाद, ट्रिब्यूनल ने नावेद और शमीन दोनों को दोषी पाया। आईसीसी ने ये जानकारी अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडिल पर शेयर करते हुए दी है.

फैंस और यूएई क्रिकेट के साथ किया विश्वासघात

इस बैन को लेकर एलेक्स मार्शल, आईसीसी के महाप्रबंधन ने कहा,

“मोहम्मद नावेद और शैमान अनवर ने अपने एडॉप्टेड कंट्री, संयुक्त अरब अमीरात का क्रिकेट में उच्चतम स्तर पर प्रतिनिधित्व किया, नावेद कप्तान और सबसे अधिक विकेट लेने वाले थे, अनवर ओपनिंग बल्लेबाज थे. दोनों के पास लंबे अंतरराष्ट्रीय करियर थे और मैच फिक्सरों से खतरे में थे. इस भ्रष्ट गतिविधि से जुड़ने के लिए दोनों ने अपने पदों, अपने साथियों और यूएई क्रिकेट के सभी समर्थकों के साथ विश्वासघात किया.

चेतावनी के रूप में करना चाहिए काम

आईसीसी ने इन 2 खिलाड़ियों को पाया मैच फिक्सिंग का दोषी, 8 साल का लगाया बैन

33 साल के तेज गेंदबाज नावेद ने 39 एकदिवसीय और 31 टी 20 मैच खेले थे. वहीं शैमान अनवर ने 41 वनडे और 31 T20I मैच खेले हैं, जिसमें 1336 व 854 रन बनाए हैं. आईसीसी के महाप्रबंधन ने आगे कहा,

“मुझे खुशी है कि स्वतंत्र ट्रिब्यूनल ने क्रिकेट के सभी रूपों से महत्वपूर्ण प्रतिबंध लगाए हैं और इसे किसी भी क्रिकेटर को चेतावनी के रूप में काम करना चाहिए जो गलत रास्ता अपनाता है.”