ये हैं ऋषभ पंत के बड़े रिकॉर्ड्स जो कभी धोनी भी नहीं बना‌ पाए
/

ऋषभ पंत के नाम दर्ज हैं क्रिकेट के 5 बड़े रिकॉर्ड जो अब तक नहीं बना सके महेंद्र सिंह धोनी

ये वो रिकॉर्ड हैं जो एक बेहतरीन खिलाड़ी के होने के बावजूद महेंद्र सिंह धोनी नहीं बना पाए, और कम समय में ऋषभ पंत ने अपने नाम कर लिए।

Prev1 of 5
Use your ← → (arrow) keys to browse

भारतीय क्रिकेट में ये दौर ऐसा है जब बल्लेबाज और विकेटकीपर ऋषभ पंत की जमकर आलोचना होती है‌। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के उत्तराधिकारी के रुप में उनको देखा जा रहा था लेकिन उनकी फॉर्म इतनी खराब चल रही है कि उन्हें क्रिकेट के हर इक मंच पर आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है।

विश्व कप 2019 में उनके खराब बैटिंग शॉट्स और शॉट सलेक्शन की आज भी धज्जियां उड़ रही हैं। लेकिन ऐसे बुरे क्रिकेटिंग करियर में भी वो टीम में शामिल हैं जिसकी बड़ी वजह इस युवा खिलाड़ी का आईपीएल करियर और कई मौकों पर भारत के लिए खेली गईं शानदार पारियां उनमें एक एक्स फैक्टर बनाती हैं जो टीम में उनकी मौजूदगी को पक्का करते हैं।

धोनी के। उत्तराधिकारी के रूप में देखे जाने पर तो ऋषभ पंत की जमकर आलोचना होती है लेकिन बड़ी बात ये है कि ऋषभ पंत ने कई ऐसे रिकॉर्ड भी बनाए हैं जो धोनी के भी नाम नहीं है और यही रिकॉर्ड उन्हें धोनी से अलग और एक विशेषता देते हैं, तो चलिए आपको आज ऋषभ पंत के उन रिकॉर्ड के बारे में बताते हैं जो दिग्गज क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी भी नहीं बना पाए।

इंग्लैंड के ज़मीन में शतक

साल 2018 में विराट कोहली की अगुवाई वाली भारतीय टीम इंग्लैंड पहुंची और 5 टेस्ट मैचों की सीरीज खेली। इस दौरांन ऋषभ पंत के लिए महत्वपूर्ण रही आखिरी टेस्ट मैच की पारी इस मैच की आखिरी पारी में दर्शकों का ध्यान आकर्षित करते हुए एक बेहतरीन शतकीय पारी खेली और 145 गेंदों पर 114 रनों की शानदार इनिंग के जरिए अपनी प्रतिभा दिखाई।

धोनी के नाम नहीं है कोई शतक

वहीं बात अगर महेंद्र सिंह धोनी की हो तो धोनी ने अपने पूरे करियर में इंग्लैंड की धरती पर कोई शतक‌ नहीं जड़ा और इसी मामले में ऋषभ पंत धोनी से आगे निकल गए। धोनी ने 2007, 2011 और 204 में इंग्लैंड का दौरा किया लेकिन इस दौरान वो कोई शतक नहीं लगा पाए और इंग्लैंड की धरती पर धोनी के शतकों का आंकड़ा शून्य पर ही अटक गया।

भारतीय टीम के दिग्गज खिलाड़ी महेंद्र सिंह धोनी ने इंग्लैंड की सरजमीं पर कुल 12 टेस्ट मैच खेले और इस दौरान उनके बल्ले से 23 पारियों में आठ अर्द्धशतक जड़े और इस दौरान इंग्लैंड में द्वारा बनाया गया सबसे बड़ा स्कोर 92 रनों तक ही रहा और पूरे करियर में शतक नहीं लगा ।

Prev1 of 5
Use your ← → (arrow) keys to browse