घरेलू क्रिकेट में मध्यप्रदेश बना बादशाह, 41 बार की चैंपियन मुंबई को हराकर पहली बार जीता Ranji Trophy का खिताब

रणजी ट्रॉफी (Ranji Trophy 2022) का फाइनल मुकाबला मध्यप्रदेश और मुंबई टीम के बीच रविवार को खेला गया। जहां इस रोमांचक मुकाबले में मध्यप्रदेश ने 41 बार की चैंपियन मुंबई टीम को फाइनल में 6 विकेट से हराकर इतिहास रचते हुए पहली बार रणजी ट्रॉफी (Ranji Trophy) का खिताब अपने नाम कर लिया है।

इस खिताबी मुकाबले में मध्यप्रदेश के बल्लेबाज रजत पाटीदार ने अहम भूमिका निभाई। उन्होंने पहले पारी में 122 रन बनाकर टीम को एक मजबूती दी और वहीं दूसरी पारी में नाबाद 30 रन बनाकर टीम को Ranji Trophy का खिताब जिताकर ऐतिहासिक जीत दर्ज कराई।

मध्यप्रदेश ने मुंबई को हराकर जीता Ranji Trophy का खिताब

मध्यप्रदेश ने मुंबई को हराकर जीता Ranji Trophy का खिताब
मध्यप्रदेश ने मुंबई को हराकर जीता Ranji Trophy का खिताब

दरअसल रविवार को मध्यप्रदेश ने 41 बार की चैंपियन मुंबई को फाइनल में 6 विकेट से हराकर इतिहास रचते पहली बार रणजी ट्रॉफी (Ranji Trophy) का खिताब अपने नाम कर लिया है। बता दें मध्‍यप्रदेश ने बेंगलुरु के एम चिन्‍नास्‍वामी स्‍टेडियम पर फाइनल मैच में 108 रन के लक्ष्‍य को 4 विकेट खोकर हासिल कर लिया। बता दें ये मध्‍यप्रदेश क्रिकेट इतिहास के लिए ऐतिहासिक दिन है।

जहां मुंबई ने रणजी ट्रॉफी 2022 फाइनल में टॉस जीतकर पहले बल्‍लेबाजी करने का फैसला किया था। तो वहीं मुंबई की पहली पारी 374 रन पर ऑलआउट हुई थी। इसके जवाब में मध्‍यप्रदेश ने पहली पारी में 536 रन बनाए और पहली पारी के आधार पर 162 रन की बढ़त हासिल की। वहीं चौथे दिन मुंबई ने तेजी से खेलकर आउटराइट जीत दर्ज करने की कोशिश की, लेकिन उसकी दूसरी पारी 269 रन पर सिमट गई। इस तरह मध्‍यप्रदेश को जीत के लिए 108 रन का लक्ष्‍य मिला, जिसे उसने 29.5 ओवर में 4 विकेट के नुकसान पर हासिल कर लिया।

पहली पारी में ही मध्यप्रदेश ने पक्की कर ली थी जीत

मध्यप्रदेश ने मुंबई को हराकर जीता Ranji Trophy का खिताब
मध्यप्रदेश ने मुंबई को हराकर जीता Ranji Trophy का खिताब

दरअसल मध्यप्रदेश की टीम का रविवार को 41 साल की चैंपियन रही मुंबई टीम से सामने हुआ और इस बार मध्यप्रदेश ने मुंबई टीम को कड़ी टक्कर देते हुए रणजी ट्रॉफी का खिताब अपने नाम कर लिया है। बता दें जिस तरह से मध्यप्रदेश टीम ने मुंबई को हराया ये वाकई में अपने आप में काबिल-ए-तारीफ है, क्योंकि 374 रनों का पीछा करते हुए मध्यप्रदेश ने पहली पारी में ही 536 रन बना दिए थे। बता दें लक्ष्‍य का पीछा करने उतरी मध्‍यप्रदेश की शुरुआत धवल कुलकर्णी ने बिगाड़ी। कुलकर्णी ने दूसरे ओवर में पहली पारी के शतकवीर यश दुबे को क्‍लीन बोल्‍ड कर दिया। फिर हिमांशु मंत्री (37) और शुभम शर्मा (30) ने दूसरे विकेट के लिए 52 रन की साझेदारी की। शम्‍स मुलानी ने मंत्री को बोल्‍ड करके इस साझेदारी को तोड़ा। पार्थ साहनी (5) को मुलानी ने कोटियन के हाथों कैच आउट कराकर अपना दूसरा शिकार किया।

शुभम शर्मा ने फिर रजत पाटीदार के  साथ चौथे विकेट के लिए 35 रन की साझेदारी करके मध्‍यप्रदेश को 100 रन के पार पहुंचाया। मुलानी ने शुभम शर्मा को अरमान जाफर के हाथों कैच आउट कराया। फिर रजत पाटीदार ने विजयी शॉट जमाकर मध्‍यप्रदेश खेमे में खुश‍ियां बिखेर दी। पाटीदार के साथ कप्‍तान आदित्‍य श्रीवास्‍तव 1 रन बनाकर नाबाद लौटे। मुंबई की तरफ से शम्‍स मुलानी ने तीन जबकि धवल कुलकर्णी को एक विकेट मिला।