आईपीएल में अब तक एक भी बाउंड्री नहीं लगा सके हैं ये खिलाड़ी
//

आईपीएल में अब तक एक भी बाउंड्री नहीं लगा सके हैं ये खिलाड़ी

आईपीएल दुनिया की सबसे बड़ी क्रिकेट लीग माना जाता है। 20-20 के इस दौर में आईपीएल में जमकर चौके छक्के लगते हैं और लोगों का मनोरंजन होता है। जिस टूर्नामेंट में महेंद्र सिंह धोनी आंद्रे रसैल, क्रिस गेल, विराट कोहली हार्दिक पांड्या डेविड वॉर्नर जैसे खिलाड़ी हों तो उस लीग चौके छक्कों का तूफान आना तो लाजमी हो जाता है। लेकिन कुछ खिलाड़ी ऐसे भी हैं जिन्हें एक चौका और छक्का लगाने में 48 गेंद खेलने पड़े और इन खिलाड़ियों की कहानी काफी दिलचस्प है।

यो महेश और जीवन मेंडिस‌

यो महेश और जीवन मेंडिस श्रीलंका के खिलाड़ी हैं और आईपीएल में भी खेलते हैं। लेकिन ताज्जुब की बात यह है कि यह दोनों अभी तक आईपीएल में एक भी चौका या छक्का नहीं लगा पाए‌ हैं। यह दोनों ही अपने करियर में अभी तक 27-27 गेंदे खेल चुके हैं। लेकिन उनके बल्ले से मारी हुई एक भी गेंद अभी तक बाउंड्री के पार नहीं पहुंची है।

मैथ्यू वेड

ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट में आक्रामक बल्लेबाजी के मामले में मैथ्यू वेड का नाम जरूर लिया जाता है लेकिन बड़ी दिलचस्प बात है कि आईपीएल में अभी तक मैथ्यू वेड एक भी बार गेंद को बाउंड्री तक नहीं पहुंचा सके हैं। उन्होंने आईपीएल में तीन मैच खेले हैं लेकिन उनके बल्ले से केवल 22 रन ही निकले हैं और बड़ी बात यह है कि उसमें एक भी बाउंड्री नहीं है। दिलचस्प बात यह कि मैथ्यू वेड अभी तक आईपीएल में 33 गेंदें खेल चुके हैं।

प्रज्ञान ओझा

राजस्थान रॉयल्स और मुंबई इंडियंस के लिए गेंदबाजी कर चुके प्रज्ञान ओझा अभी तक अपने आईपीएल करियर में एक भी चौका छक्का नहीं लगा सके हैं। उन्होंने अब तक 92 मैच खेले हैं जिनमें से 23 बार उन्हें बैटिंग के लिए आना पड़ा। प्रज्ञान ने 23 इनिंग्स में महज 16 रन ही बनाए हैं।

सिद्धार्थ कौल

सिद्धार्थ कौल 10 बार बैटिंग के लिए आईपीएल में उतर चुके हैं लेकिन उनके बल्ले से अभी तक एक भी चौका या छक्का नहीं निकला है। सिद्धार्थ अब तक अपने आईपीएल के क्रिकेटिंग करियर में 28 गेंद खेल चुके हैं लेकिन उनका मारा हुआ एक भी शॉट गेंद को बाउंड्री तक नहीं पहुंचा पाया है।

यजुवेंद्र चहल

आईपीएल में अपनी गेंदबाजी से बल्लेबाजों के लिए मुसीबत खड़ी करने वाले यजुवेंद्र चहल के नाम आईपीएल में सबसे ज्यादा गेंदे खेलने के बावजूद एक भी बाउंड्री ना लगाने का रिकॉर्ड है। चहल अब तक 14 पारियों में 48 से ज्यादा गेंदें खेल चुके हैं लेकिन उनके बल्ले से चौके और छक्के के जरिए कोई रन नहीं आया है।