उत्तर प्रदेश के गोंडा में मंदिर के पुजारी ने खुद पर चलवाई थी गोली, पुलिस का सनसनीखेज खुलासा

उत्तर प्रदेश के गोंडा में तिर्रेमनोरमा के रामजानकी मंदिर के पुजारी पर हुए हमले में पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है। गोंडा के तिर्रेमनोरमा के पूर्व प्राधन अमर सिंह को फसाने को लेकर रामजानकी मंदिर के महंत ने वर्तमान ग्राम प्रधान के साथ मिलकर पुजारी पर फायरिंग की साजिश रची है इस साजिश में घायल पुजारी भी शामिल था। वही पुलिस ने शुक्रवार को घटना में आरोपित महंत, ग्राम प्रधान, और बेटे समेत सात लोगो को गिरफ्त में ले लिया है । वही आरोपियों के पास से तीन तमंचा, तीन ज़िंदा कारतूस , एक खोखा कारतूस एवं चार मोबाइल मौके पर बरामद किया है।

वही रामजानकी मंदिर के पुजारी अतुल त्रिपाठी को 10 अक्टूबर को मंदिर परिसर में रात को गोली मार दिए थे जिसके बाद हालात गंभीर होने के बाद जिला अस्पताल से लखनऊ रेफर कर दिया। जिसके मामले में मंदिर के महंथ वृन्दासरन त्रिपाठी ने, पूर्व ग्राम प्रधान अमर सिंह समेत चार लोगों के खिलाफ थाना में रिपोर्ट दर्ज कराई थे। जिसके बाद पुलिस ने दो अभियुक्त को गिरफ्तार कर पूछताछ जारी की।

जिसके बाद एसपी शैलेश कुमार पांडेय ने बताया कि विवेचना के दौरान सर्विलांस से मिले साक्ष्यों और गवाहों के बयान के बाद शुक्रवार की रात तिर्रेमनोरमा गांव में एक बाग से पुलिस ने आरोपी वृन्दाशरण त्रिपाठी उर्फ सीताराम दास, विपिन द्विवेदी उर्फ छोटू निवासी गुड़ थाना गुड़ जनपद रीवां मध्यक्ष प्रदेश, विनय कुमार सिंह, उसके बेटे नीरज सिंह निवासी तिर्रेमनोरमा, तिर्रेमनोरमा के ही निवासी मुन्ना सिंह, सोनू सिंह व शिवशंकर सिंह को गिरफ्तार कर लिया।एसपी ने बताया कि पकड़े गए लोगों के पास से 315 बोर का तीन तमंचा, तीन जिन्दा कारतूस, एक खोखा कारतूस व चार मोबाइल फोन मिले हैं।

एसपी ने बताया कि पकड़े गए आरोपियों में सीताराम दास ने बताया कि अमर सिंह से मंदिर की 120 बीघा जमीन को लेकर विवाद चल रहा था। 1 माह पहले ग्राम प्रधान विनय सिंह और पुजारी के साथ मिलकर ये घटना अमर सिंह को फसाने के लिये किया गया था। जिसके बाद ग्राम प्रधान और महंत का रास्ता साफ हो जाता। वही ये मामला 10 अक्टूबर को नीरज सिंह, मुन्ना सिंह व सोनू सिंह मंदिर पहुंचे। वहां मुन्ना सिंह ने पुजारी पर गोली चला दी। जब फायरिंग की आवाज सुनकर होमगार्ड दौड़े तो आरोपियों ने होमगार्ड पर भी फायर कर दिया। मगर फायर मिस हो जाने से होमगार्ड बच गए। एसपी ने बताया कि साजिश में पुजारी अतुल त्रिपाठी उर्फ सम्राट दास जिसे गोली लगी है वो भी शामिल था।

वही पुलिस टीम आरोपी सूरज सिंह की तलाश में जुटी है। आरोपी पुजारी का इलाज लखनऊ में चल रहा है। पुलिस का कहना है कि जब आरोपी पुजारी ठीक हो जाएगा तो उसे गिरफ्तार किया जायरग।
इस जाच में पुलिस की स्वाट टीम प्रभरी अतुल चतुर्वेदी, थानाध्यक्ष इटियाथोक संजय दुबे, थानाध्यक्ष वजीरगंज संतोष तिवारी समेत सर्विलांस टीम मौजूद रही।

प्रधान का बेटा होमगार्ड पर कर रहा था निगरानी

वर्तमान ग्राम प्रधान के बेटे नीरज सिंह रामजानकी मंदिर की छत पर चढ़ कर होमगार्ड की निगरानी में लगा था। एक होमगार्ड के सोने के बाद जब दूसरा होमगार्ड टॉयलेट गया ,जिसके बाद नीरज ने इशारा किया और फिर मंदिर में सोनू सिंह और मुन्ना सिंह घुसे । उसके बाद महंत और पुजारी से मिलने के बाद पुजारी को गोली मारी।

Leave a comment

Your email address will not be published.