खजांची जय बाजपेई की पत्नी ने सामने आकर किया ये बड़ा खुलासा
/

विकास दुबे के खजांची जय की पत्नी का नाम भी इस खास लिस्ट में शामिल, एक और बड़ा खुलासा

विकास के खजांची जय बापपेई की पत्नि ने अपने भाई के साथ मिलकर कई नामी- बेनामी प्रोपर्टी खरीदी हैं।

मोस्ट वांटेड क्रिमिनल विकास दुबे के खंजाची जय वाजपेई इन दिनों जेल की सलाखों के पीछे सजा काट रहा है। उसकी पत्नी श्वेता और भाई रजत ने कई नामी-बेनामी खरीदी गई संपत्तियों को लेकर लगातार कार्रवाई की मांग कर रहे हैं। वहीं, वकील सौरभ भदौरिया ने दोबारा एडीएम वित्त से इस मामले में पत्र देकर शिकायत की। और उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की। एडीएम को सौंप गए पत्र में 16 संपत्तियों को बाजार के रेट से कम दाम पर खरीदने की बात सामने आ रही है।

खजांची पर औने-पौने दाम पर संपत्ति खरीदने का लगा आरोप

इतना ही नहीं मकानों की रजिस्ट्रियां बाजार के रेट से कम के स्टंप पर कराने और भुगतान करने के साथ सरकारी टैक्स की चोरी की है। इसकी वजह से सरकार के राजस्व को नुकसान पहुंचा है। हालाँकि, सम्पत्ति खरीद-फरोख्त के मामले में पहले भी रजिस्ट्रार और जिला अधिकारी से शिकायत की जा चुकी है। इसके बावजूद पुलिस महकमें में मिलीभगत होने के चलते कोई एक्शन नहीं लिया गया।

उधर, अधिवक्ता सौरभ का कहना है कि

“उच्चाधिकारियों के प्रेशर के चलते पुलिस ने जय और उसके भाईयों पर गैंगस्टर का मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस द्वारा उनकी गिरफ्तार को लेकर खानापूर्ती की जा रही है। सभी आरोपी खुलेआम समाज में खुम रहे हैं और पुलिस उनके फरार होने की रिपोर्ट आला अधिकारियों को देकर गुमराह करने का काम कर रही है।”

मेरे पति हैं बेकसूर, उनको फंसाया जा रहा है-श्वेता

सूत्रों के मुताबिक, ये बात भी सामने आ रही है कि अभी तक जांच में विकास के खंजाची जय बाजपेई की प्रॉपर्टी को लेकर संदेह पैदा हो रहा है। हर एक संम्पत्ति की जांच- पड़ताल की जाएगी। अब तक पुलिस की छानबीन में ये साफ नहीं हो पाया है कि ये सारी संपत्ति विकास दुबे की है या खजांची रहे जय बाजपेई की है। अभी तक ये सस्पेंश बना हुआ है। जय और फैमिली मेंबर के पास देश और विदेशों में तीन दर्जन प्रोपर्टी की बात सामने आ रही है।

खजांची की पत्नि श्वेता ने कहा कि-

“मेरे पति को विकास दुबे कांड में बेवजह फंसाकर आरोपी बनाया जा रहा है। पुलिस ने खुद सभी सीसीटीवी फुटेज को चेक किए हैं। मेरे पति घर पर थे।”

बता दें कि- पुलिस ने खजांची को गिरफ्तार करने के बाद जेल की सलाखों के पीछे भेज दिया है।