शिवम दुबे का बड़ा खुलासा, पुलिस पर चलाई थीं 35 राउंड गोलियां
/

बड़ा खुलासा: विकास दुबे के साथी शिवम ने कबूला- पुलिस पर चलाई थीं 35 राउंड गोलियां

बिकरू कांड के आरोपी शिवम दुबे ने एसटीएफ की पूछताछ में कई सनसनीखेज खुलासे किए।

बिकरू कांड के आरोपी शिवम दुबे ने एसटीएफ की पूछताछ में कई सनसनीखेज खुलासे किए। 25 हजार के इनामी शिवम दुबे ने बताया कि वह विकास दुबे के कहने पर चचेरे भाई सतेंद्र की डबल बैरल बंदूक लेकर प्रभात उर्फ कार्तिकेय की छत पर पहुंचा था।

कानपुर एनकाउंटर में शहीद हुए पुलिसकर्मी

पुलिस के पहुंचते ही शुरू कर दी थी फायरिंग

इसके अलावा विकास के पुराने घर की छत से लेकर आसपास की छतों पर भी पहले से असलहाधारी मौजूद थे। पुलिस टीम के पहुंचते ही छतों से उन पर अंधाधुंध फायरिंग की गई थी। शिवम ने यह भी कबूला कि प्रभात के साथ उसने भी पुलिसकर्मियों पर करीब 30-35 राउंड गोलियां चलाईं थीं।

एसटीएफ की टीम ने कानपुर के चौबेपुर से गुरुवार को शिवम को पकड़ा था। एसएसपी दिनेश कुमार पी ने बताया कि शिवम अपने रिश्तेदार विकास दुबे के कहने पर ही बंदूक लेकर पहुंचा था। पूछताछ में उसने बताया कि अंधेरे की वजह से उसे खुद पता नहीं चला कि कितने पुलिसकर्मी गोली लगने से ढेर हुए हैं।

विकास के गुर्गों ने चलाई थीं 50-60 राउंड गोलियां

पुलिसकर्मियों को मौत के घाट उतारने के बाद विकास दुबे के घर के पीछे वाले रास्ते से शिवली होते हुए वह फरार हो गया था। विकास के गुर्गों ने कुल 50-60 राउंड गोलियां चलाकर वारदात को अंजाम दिया था। चौबेपुर पुलिस ने शुक्रवार को कोर्ट में पेश करने के बाद शिवम को जेल भेज दिया है।

बताते चलें कि बिकरू कांड के मुख्य आरोपी विकास दुबे और उसके पांच साथियों को पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया था। पुलिस इस मामले में अभी तक 12 से अधिक लोगों को जेल भेज चुकी है। मामले की जांच के लिए एसआईटी और न्यायिक आयाेग का गठन किया गया था। वहीं सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले की जांच के लिए फिर से समिति गठित करने के आदेश दिए हैं। मामले की उच्चस्तरीय जांच की जा रही है।