मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने कहा अपराधियों पर लगेंगे NSA
/

गोरखपुर कांड: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लगा दी पुलिस अफसरों की क्लास, अपराधियों के खिलाफ NSA लगाने की बात

गोरखपुर: उत्तर प्रदेश में जिस तरह से अपराध के मामले बढ़ रहे हैं उसने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मुश्किलें बढ़ा दी है। अपने ही जिले गोरखपुर से बच्चे के अपहरण और हत्या के मामले में योगी ने अब बड़ी कार्रवाई करने की बात कहीं हैं। साथ परिवार के लिए मुआवजे का ऐलान भी किया है। यहीं मुख्यमंत्री ने पुलिस अधिकारियों की भी क्लास लगा दी है।

सख्त कार्रवाई के निर्देश

गोरखपुर में हुए बच्चे के अपहरण और हत्याकांड के मामले में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अब कड़ा संदेश देते हुए आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। यहीं नहीं इस मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ये भी कहा कि इस मामले में अपराधियों पर एनएसए लगाने की बात कही हैं।

यहीं नहीं बल्कि इसके साथ ही इस में पुलिस अधिकारियों की जवाबदेही तय करने का बयान भी दिया है। इस नृशंस मामले को लेकर अपहृत और मृत बच्चे के परिजनों को 5 लाख की मदद देने के साथ ही उन्हें इस पूरे मामले को फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाने की बात कही है।

क्या है गोरखपुर मामला

दरअसल 26 जुलाई को गोरखपुर से एक घटना सामने आई थी जहां एक व्यापारी के बेटे का अपरहण कर लिया गया जिसके बाद 1 करोड़ रुपए की फिरौती मांगी गई। इस पूरे मामले में पुलिस ने सख्ती दिखाई और पूरे शहर में अपनी टीमें दोड़ा दीं लेकिन नजीता नहीं निकाला और फिर एक दिन बाद सोमवार को बच्चे की तलाश में चप्पा-चप्पा छान रही एसटीएफ की टीम को बच्चे की लाश मिली जिसके बाद हड़कंप बच गया है।

बढ़ रहा‌ है अपराध

उत्तर प्रदेश में लगातार बढ़ते गुंडाराज के चलते लोगों की मुश्किलें बढ़ती जा रहीं हैं। हाल के दिनों में कानपुर विकास दुबे का बिकरू कांड और संजीत यादव हत्याकांड, गाजियाबाद में पत्रकार हत्याकांड, अमेठी, कासगंज में जुर्म हद से ज्यादा बढ़ गया है। प्रदेश के कई जिलों से लगातार आ रही किडनैपिंग समेत मर्डर की खबरें सरकार की छवि और सुशासन की धज्जियां उड़ा रहीं हैं जिसके योगी आदित्यनाथ पर विपक्ष भी हमलावर हो‌ गया है।

विपक्ष है हमलावर

उत्तर प्रदेश में अपराध और पुलिस की लचर कारवाई के चलते योगी आदित्यनाथ सरकार पर पूरा विपक्ष हमलावर हैं जिसमें कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी मायावती समेत पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव शामिल हैं। गौरतलब है कि अखिलेश यादव ने तो बीते दिन उत्तर की योगी आदित्यनाथ सरकार को निर्लज्ज तक कह दिया था।