सूर्यवंशम का यह छोटा बच्चा अब हो गया है काफी बड़ा, देखें फोटो
/

सूर्यवंशम में अमिताभ बच्चन बेटे का किरदार निभाने वाला एक्टर अब दिखने लगा है ऐसा, देखें तस्वीरें

फिल्म में सिर्फ एक्टर से नहीं बल्कि हर फिल्म में हर किसी का किरदार महत्वपूर्ण होता है। यदि कोई फिल्म हिट होतो है तो उसका सारा श्रेय फिल्म के अभिनेता या अभिनेत्री को नहीं ब

फिल्म में सिर्फ एक्टर से नहीं बल्कि हर फिल्म में हर किसी का किरदार महत्वपूर्ण होता है। यदि कोई फिल्म हिट होतो है तो उसका सारा श्रेय फिल्म के अभिनेता या अभिनेत्री को नहीं बल्कि उस फिल्म में निभाए गए हर एक किरदार का होता है। क्यों न किरदार साइड रोल या सिर्फ चाइल्ड आर्टिस्ट का हो। एक फिल्म तभी सुपरहिट होती है जब हर किसी व्यक्ति ने फिल्म में किरदार बखूबी और ईमानदारी से निभाया हो। बताते हैं आपको एक फिल्म के बारे में जिसमे इस अभिनेता ने अमिताभ बच्चन के साथ एक चाइल्ड आर्टिस्ट यानी उनके बेटे का किरदार निभाया था। आज वो बहुत बड़े एक्टर बन चुके हैं। बताते हैं आज उनके बारे में –

 

फिल्मों में देखा होगा कि फिल्म का हीरो या हिरोइन तो कोई और होता है, लेकिन फिल्म की कहानी एक बच्चे के आस-पास ही घुमती रहती है। ऐसे में चाइल्ड आर्टिस्ट के बगैर फिल्म पूरी ही नहीं हो पाती है। जी हाँ, हम बात करने जा रहे हैं अमिताभ बच्चन की फिल्म सूर्यवंशम के बारे में। शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति होगा, जिसने यह फिल्म नहीं देखी होगी। पहले सूर्यवंशम फिल्म आये दिन सेटमैक्स पर आती थी। कुछ दिनों पहले की ही बात है, जब सेट मैक्स ने सूर्यवंशम दिखानी बंद कर दी थी।

यूज़र्स ने उड़ाया मजाक –

एक लाइन को लेकर लोगों ने खूब ट्रोल किया और यूजर्स ने लिखना शुरू किया कि बहुत दिन हो गए ज़हर वाली खीर खाए हुए। इस फिल्म में अमिताभ बच्चन मुख्य किरदार में थे। इसमें उन्होंने बाप और बेटे का रोल किया था। इसमें छोटे वाले अमिताभ बच्चन का एक बेटा भी रहता है। आज अमिताभ बच्चन का वो छोटा बेटा बड़ा हो गया है। उसका नाम आनंद वर्धन है।

आपको बता दें आनंद वर्धन तेलुगु फिल्मों के हीरो हैं। खबरों के अनुसार आनंद वर्धन ने अपने करियर की शुरुआत बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट Priyaragalu फिल्म से की थी।

जल्द ही करेंगे बड़े पर्दे पर एंट्री –

इस फिल्म में बेहतरीन काम करने के बाद आनंद वर्धन को 1998 में आई तेलुगु फिल्म सूर्यवंशम में काम करने का मौका मिला। फिर साल 1999 में इसी नाम से फिल्म हिंदी में बनायी गयी, जिसमें आनंद वर्धन को काम करने का मौका मिला। बहुत कम उम्र में ही आनंद को बॉलीवुड के शहंशाह अमिताभ बच्चन के साथ काम करने का भी मौका मिला। एक इंटरव्यू के दौरान आनंद ने बताया कि वह पिछले 12 सालों से फिल्म इंडस्ट्री से दूर हैं और खबरों के अनुसार वह फिर से बड़े पर्दे पर एंट्री करने जा रहे हैं। उन्हें अच्छी स्क्रिप्ट्स का इंतज़ार है।