इन आउटसाइडर ने स्टार किड्स को घुटने टेकने पर किया मजबूर
/

नेपोटिज्म, ग्रुपिज्म और स्टार किड सबको इन 10 आउटसाइडर बॉलीवुड स्टार ने घुटने टेकने पर किया है मजबूर

बॉलीवुड में इन दिनों ‘नेपोटिज्म’ को लेकर जबरदस्त बहस छिड़ी हुई है।

मुम्बई- बॉलीवुड में इन दिनों ‘नेपोटिज्म’ को लेकर जबरदस्त बहस छिड़ी हुई है। कई मशहूर फिल्ममेकर्स पर इल्जाम लग रहा है, कि वह टैलेंटेड कलाकारों की बजाए फिल्मी परिवार से आए स्टार किड्स को प्राथमिकता देते हैं। इसी बीच बॉलीवुड में कई सितारे ऐसे हैं जिन्होने नेपोटिज्म’ को मात दी है । आउटसाइडर होने के बावजूद उन्होने इंडस्ट्री में अपना खास मुकाम बनाया है ।

कंगना रनौत

कंगना रनौत उन एक्टर्स में से है, जो खुलकर बॉलीवुड में नेपोटिज्म का विरोध करती हैं। कंगना बेखौफ कह चुकी हैं कि उन्हें आउटसाइडर होने की वजह से इंडस्ट्री में कई बार नेपोटिज्म का शिकार होना पड़ा है। इंडस्ट्री में कोई गॉड-फादर ना होने के बावजूद कंगना इंडस्ट्री की सभी महंगी हिरोइंस में से एक हैं।

अक्षय कुमार

बॉलीवुड के खिलाड़ी कुमार यानी अक्षय कुमार को कौन भूल सकता है। बिना किसी गॉडफादर के इन्होंने अपना अलग मुकाम बनाया। आज ये हिट फिल्मों की गारंटी बन गए हैं। इन्होंने एक से बढ़कर एक हिट फिल्मों की लाइन लगा दी है।

शाहरुख खान

बॉलीवुड के बादशाह शाहरुख खान गैर फिल्मी परिवारों से बॉलीवुड में आए युवाओं के लिए जीती जागती मिसाल हैं। शाहरूख खान ने अपने करियर की शुरुआत टीवी सीरियल ‘फौजी’ से की थी। 1992 में उनकी डेब्यू फिल्म ‘दिवाना’ रिलीज हुई थी।

जॉन अब्राहम

जॉन अब्राहम ने शोबिज की दुनिया में जैज B के गाने सूरमा से कदम रखा था। उनकी पहली फिल्म 2003 में आई फिल्म ‘जिस्म’ थी। आज जॉन इंडस्ट्री के टॉप एक्शन स्टार हैं।

राजकुमार रॉव

अपने बेहतरीन एक्टिंग टैलेंट से राजकुमार रॉव ने सभी का दिल जीता है। राजकुमार ने अपने करियर की शुरूआत थियेटर से की थी। धीरे-धीरे राजकुमार ने बॉलीवुड में अपना अलग मुकाम हासिल किया।

आयुष्मान खुराना

 

नेशनल अवॉर्ड विनर आयुष्मान खुराना ने अपने करियर की शुरुआत बतौर आरजे की थी। बॉलीवुड में उन्होने कदम रखा फिल्म ‘विक्की डोनर’ से। आयुष्मान अक्सर ऐसी फिल्में चुनते हैं जिनका सब्जेक्ट हर किसी को हैरान कर जाता है। और वह दर्शकों का दिल जीत ले जाते हैं।

कपिल शर्मा

कपिल शर्मा हास्य अभिनेता हैं। इन्होंने अपनी कॉमेडी के दम पर छोटे पर्दे पर धूम मचा दी। फरवरी 2013 में, कपिल शर्मा फोर्ब्स इंडिया पत्रिकाओं में शीर्ष 100 हस्तियों के बीच में चुने गए थे अब्बास मस्तान की किस किसको प्यार करूँ व करन जौहर की फ़िल्म में भी नजर आए। वह उनके चुटकुले कृत्रिम सामाजिक निर्माणों को ही निशाना बनाते हैं।

सुनील ग्रोवर

सुनील ग्रोवर की कॉमेडी को कौन भूल सकता हैं। यह कॉमेडी नाइट विथ कपिल में लोकप्रिय होने के बाद स्टार के कार्यक्रम में मेड इन इंडिया पर कार्य किया। उनकी कई फिल्में सुपरहिट हुई। गब्बर इज बैक, हीरोपंती, भारत, बागी फिल्म में इन्होंने जलवा बिखेरा।

अनुष्का शर्मा

अनुष्का शर्मा ने भी अपनी दम पर बॉलीवुड में पहचान बनाईफिल्म इन्होंने अपना अभिनय का सफर 2008 मे प्रदर्शित हिन्दी फिल्म रब ने बना दी जोड़ी के साथ शुरु किया था।

इसके बाद बैंड बाजा बारात के लिए काफी सराहा गया। दोनों ही मूवी ने इन्हें फिल्मफेयर पुरस्कारों में सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का नामांकन दिलाया। अनुष्का शर्मा ने क्रिकेट स्टार विराट कोहली के साथ विवाह किया।

कार्तिक आर्यन

कार्तिक आर्यन को कैसे भूला जा सकता है। आज ये बॉलीवुड में छाए हुए हैं। इनके अभिनय को वर्ष 2011 प्यार का पंचनामा से नोटिस किया गया। फिल्म में इन्होंने रजत नाम के लड़के का किरदार निभाया। इस फिल्म में इन्होंने लगभग 5 मिनट बिना रुके अपना संवाद बोला था। जो हिन्दी फिल्म में सबसे लंबा माना जाता है।