कपिल की बुआ उपासना सिंह ने बताया क्यों छोड़ा द कपिल शर्मा शो
/

कपिल की बुआ उपासना सिंह ने बताया क्यों छोड़ा द कपिल शर्मा शो

टीवी-बॉलीवुड इंडस्ट्री की अभिनेत्री और कॉमेडियन उपासना सिंह आज जानी मानी अदाकारा है। अपने चुलबुली अदाओ से लोगो को अपना दीवाना

टीवी- बॉलीवुड इंडस्ट्री की अभिनेत्री और कॉमेडियन उपासना सिंह आज जानी मानी अदाकारा है। अपने चुलबुली अदाओ से लोगो को अपना दीवाना बनाया है। उन्होंने कई फिल्मो में काम किया फिर कपिल शर्मा के शो में ‘बुआ’ बनकर लोगो को हसाया। ‘बुआ’ के किरदार में उन्हें ज्यादा लोकप्रियता हासिल हुई और कॉमेडी नाइट्स विद कपिल में ‘कप्पू की बुआ’ का किरदार निभाने वाली कॉमेडियन उपासना सिंह की अचानक से इस शो से गायब हो गयी। यह किसी को पता नहीं चला। हाल ही में वह फिर एक बार कॉमेडी करती नजर आएँगी उनके प्रशंसक उन्हें अब कपिल नहीं, सुनील ग्रोवर के साथ गैंग्स ऑफ फिल्मिस्तान में देखेंगे।

कपिल शर्मा का कॉमेडी शो से गए उपासना सिंह को आज काफी लंबा समय हो गया है। कपिल के शो से जाने के बाद वह छोटे पर्दें पर दिखाई नहीं दे रही थीं। हाल ही में उन्होंने अपने एक इंटरव्यू में कपिल के शो छोड़ने को लेकर बात की। उनका कहना है कि कपिल और उनके बीच कोई मनमुटाव नहीं है, शो के दौरान सुनील और कपिल की कुछ खटपट हो गई थी, जिसके बाद सुनील के साथ अन्य कई कलाकारों ने शो छोड़ दिया।

 

 

 

View this post on Instagram

 

Gangs of filmistan @drrrsanket @whysosuri @starbharat @neeti_simoes @preeti_simoes

A post shared by Upasana Singh (@upasnasinghofficial) on Aug 26, 2020 at 9:24pm PDT

इसलिए छोड़ा था शो –

उपासना सिंह ने आगे कहा है कि ऐसा नहीं है कि कपिल से मेरी बात नहीं होती। कपिल से मेरी अक्सर बात होती रहती है। उपासना सिंह ने कहा कि मैं एक पंजाबी फिल्म को डायरेक्ट कर रही हूं, इसके लिए मैं कपिल से मिली थी, क्योंकि उन्होंने मेरी इस फिल्म में गाना गाना था।

कपिल की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा कि वे बहुत अच्छे इंसान हैं.’कप्पू की बुआ’ ने कहा कि कई लोग ये अफवाह फैलाने की कोशिश कर रहे हैं कि हम दुश्मन हैं, क्योंकि हम साथ में काम नहीं कर रहे हैं, लेकिन ऐसा बिलकुल नहीं है कि साथ में काम नहीं करते तो हम दुश्मन हैं।

उपासना ने आगे कहा कि ऐसा होता है हम हमेशा एक जैसे लोगों के साथ काम नहीं करते और मैंने फिल्मों में भी काम किया है मतलब ये नहीं होता कि मैंने हमेशा एक ही जैसे लोगों के साथ काम करुँ।