तस्वीर वायरल होते ही सौम्या पाण्डेय का कानपुर देहात तबादला
/

तस्वीर वायरल होते ही सौम्या पाण्डेय का कानपुर देहात तबादला

हाल ही में सोशल मीडिया पर एसडीएम सौम्या पांडे की फोटो खूब वायरल हो रही हैं। इन तस्वीरों में सौम्या की नवजात बेटी भी दिख रही है। वह अपनी

हाल ही में सोशल मीडिया पर एसडीएम सौम्या पांडे की फोटो खूब वायरल हो रही हैं। इन तस्वीरों में सौम्या की नवजात बेटी भी दिख रही है। वह अपनी एक माह से भी कम उम्र की बच्ची को गोद में लेकर काम करती हैं। वह मोदीनगर की उप-मंडल मजिस्ट्रेट हैं। यह तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल होते ही मुख्यमंत्री ने योगी आदित्यनाथ इसका संज्ञान लिया। यही नहीं उनके निर्देश पर 2016 बैच की आइएएस अधिकारी सौम्या पाण्डेय का तबादला मुख्य विकास अधिकारी कानपुर देहात के पद पर किया गया है। सौम्या पाण्डेय मूलत: प्रयागराज की निवासी हैं।

14 दिन बाद ही सौम्या ने संभाला चार्ज

बीती 17 सितंबर को एसडीएम सौम्या पाण्डेय मां बनीं थी। 14 दिन बाद ही उन्होंने गाजियाबाद में एसडीएस मोदीनगर का चार्ज संभाला और काम में लग गईं। आइएएस अफसर सौम्या पाण्डेय की फोटो मीडिया में वायरल होते ही खलबली मच गई थी। बुधवार को योगी आदित्यनाथ सरकार ने दो आइएएस अफसर का तबादला कर दिया। सौम्या पांडेय ज्वांइट मजिस्ट्रेट गाजियाबद का सीडीओ कानपुर देहात बनाया गया है।

कोरोना संक्रमण के दौर में भी कार्य को दी वरीयता

एसडीएम सौम्या पाण्डेय ने कोरोना संक्रमण के दौर में भी अपने कार्य स्थल को वरीयता दी। मां बनने के महज 14 दिन बाद ही चार्ज संभाल लिया था। बच्ची को गोद में लेकर दफ्तर में फाइलें निपटाने में लगीं। सौम्या पाण्डेय ने डिलीवरी के लिए आठ सितंबर को अवकाश लिया था। पिता रवि पांडेय ने बताया कि सरकारी नियमानुसार उन्हेंं अधिकतम नौ महीने की मातृत्व अवकाश मिल सकता है। 17 सितंबर को डिलेवरी के मात्र 14 दिन बाद एक अक्तूबर को फिर से कार्यभार संभाला।

सोशल मीडिया पर तस्वीरें वायरल होते ही लोग उनके जज्बे को सलाम कर रहे है। प्रयागराज के हाशिमपुर की रहने वाली सौम्या पांडेय की 2017 बैच की ट्रेनिंग के बाद उनकी पहली नियुक्ति मोदीनगर एसडीएम के पद पर हुई। गाजियाबाद में मार्च 2020 को सौम्या को बतौर ज्वाइंट मजिस्ट्रेट की जिम्मेदारी के अलावा पूरे जिले की कोविड मॉनिटरिंग सेल का प्रभारी बनाया गया। सौम्या का कहना है कि उनके लिए समाज सेवा सर्वोपरि है।