सुदीप दत्ता

सफलता किसी को भी मिल सकती है चाहे गरीब हो या अमीर लेकिन उसके लिए मेहनत और लगन का होना बहुत जरूरी है और अगर आपके पास ये दोनों हैं तो आप जिंदगी में किसी भी मंजिल को छु सकते हैं. आज हम आपको एक ऐसे ही व्यक्ति सुदीप दत्ता के बारे में बताने वाले हैं. जो कभी एक-एक रूपये के मोहताज रहा करते थे और आज करोड़ों रूपयें की संपति के अकेले मालिक हैं.

जी हाँ, सही सुना आपने, सुदीप एक वक्त 15 रूपये महीने के हिसाब से मजदूरी किया करते थे.अब आपको मन में यही सवाल आ रहा होगा कि ऐसा क्या हो गया जिससे अचानक सुदीप की जिंदगी में इतनी ज्यादा बदल आ गया. दरअसल आपका हैरान होना जायज़ है. तो आइए फिर एक बार सुदीप दत्ता की इस करोड़ो की सफलता की कहानी का राज जानते हैं..

15 रुपए महीने में करते थे नौकरी

15 रूपये महीने की नौकरी करने वाला शख्स कैसे बना 1600 करोड़ की कंपनी का मालिक, जानिए दिलचस्प किस्सा

सुदीप दत्ता जो कभी 15 रूपये महीने की मजदूरी कर अपने परिवार का खर्चा चलाता था वो आज करोड़ों की संपति की अकेले मालिक बन गया है. आपको बता दें कि सुदीप एक गरीब परिवार से थे, जिसमें उनके पिता आर्मी में थे और 1971 की लड़ाई में शारीरिक दुर्बलता से वो शहीद हो गए थे और फिर कुछ समय बाद उनके बड़े भाई की एक गंभीर बिमारी के कारण मौत हो गई, क्योंकि सुदीप के पास इलाज के लिए पर्याप्त पैसे नही थे.

गौरतलब है कि, उस दौरान सुदीप सिर्फ 16 साल के थे, तो ऐसे में एक बार उनके कुछ दोस्तो ने उन्हें मुंबई जाने का सुझाव दिया, जिसे सुदीप ने माना और मुंबई के लिए निकल पड़े और मुंबई जाकर 15 रूपए महीने की नौकरी की तब उनके मालिक ने सुदीप को रहने की भी जगह दी, लेकिन उस नौकरी में 20 लोग काम करते थे, जिसके कारण वह सब एक ही जगह सोते थे और वह कमरा काफी छोटा था.

सुदीप दत्ता की 1600 करोड़ की संपति

15 रूपये महीने की नौकरी करने वाला शख्स कैसे बना 1600 करोड़ की कंपनी का मालिक, जानिए दिलचस्प किस्सा

जब इंसान को पैसे की जरूरत पड़ती है, तब उसे केवल पैसे ही दिखाई देते हैं परेशानी नहीं दिखती, इसलिए वह वहां खुशी-खुशी काम करते थे जहां उन्हें काम मिलता था. इस कमाई से सुदीप दत्ता कुछ रुपये बचा कर अपनी मां को भी भेजा करते थे. हालांकि, जहां वो काम करत थे वो फैक्ट्री काफी लॉस में चल रही थी, जिसके कारण उस फैक्ट्री के मालिक ने उस फैक्ट्री को बंद करने का सोचा इसी बीच सभी कर्मचारी दूसरा काम ढूंढ रहे थे, लेकिन तभी सुदीप ने उस कंपनी को 16,000 रूपये की कीमत में खरीदने का सोचा.

ऐसा माना जाता है कि उस टाइम के दौर में काफी बड़ी-बड़ी कंपनियां थी और सुदीप की कंपनी की तुलना में बड़ी-बड़ी कंपनियों को काफी ज्यादा ऑर्डर मिलते थे. इस वजह से सुदीप को एक नई स्ट्रेटजी और बिजनेस प्लान बनाना पड़ा, जिसके बाद उन्हें छोटे-छोटे ऑर्डर्स मिलने लगे और वैसे भी सुदीप ने बड़ी-बड़ी कंपनियों से संबंध बना ही रखे थे तो ऐसे करते-करते उन्हें बड़े आर्डर मिलने लगे. और आज सुदीप की कंपनी ESS DEE Aluminum PVT LTD की कीमत 16,00 करोड़ रुपए है.