ये 7 लोग ऐसे गायब हुए वर्षो बाद भी आज तक नहीं मिला कोई सुराग
Prev1 of 6
Use your ← → (arrow) keys to browse

आये दिन अपरहण के मामले सामने आते रहते हैं और कई लोग ऐसे ही सड़को में गुम हो जाते हैं। दिल्ली, मुंबई जैसे शहरो में आज भी ऐसे हज़ारो बच्चे और बड़े गायब हो जाते हैं। कभी-कभी लोग सही तरह से मिल भी जाते हैं, लेकिन कभी ऐसा भी होता कि उनका कुछ पता ही नहीं चलता है। वहीं कुछ ऐसे भी मामले हैं, जहां लोगो का सुराग ही नहीं मिलता परन्तु जब ऐसी किसी मामले की चर्चा होती है, तो सबसे पहले लोग नेता जी सुभाष चंद्र बोस को भी आज याद करते हैं।

राहुल –

ये 7 लोग ऐसे गायब हुए वर्षो बाद भी आज तक नहीं मिला कोई सुराग

 

बच्चे अपने हम उम्र दोस्तों के साथ गली मोहल्लों में क्रिकेट खेलते मिल ही जाते हैं। ऐसे ही बच्चे गायब हो जाते हैं। बात है करीब साल 2005 की 18 मई को केरल के अलप्पुझा में एक सात वर्षीय राहुल नाम का लड़का गली में अपने घर के बाहर क्रिकेट खेल रहा था। तभी अचानक से बच्चा गायब हो गया। पूछने पर पता चला कि खेलने के दौरान ही वो ग्राउंड में लगे नल से पानी पीने गया उसी समय ही दोस्तों ने उसे आखिरी बार एक दाढ़ी वाले शख्स के साथ देखा था, जिसने पहले राहुल से बातें कीं और फिर उसका बैट उसके दोस्तों की तरफ उछाल दिया। दोस्त बैट उठा कर फिर से क्रिकेट खेलने में मग्न हो गए, लेकिन इसी दौरान राहुल गायब हो गया।

आज इस घटना को 15 साल से ऊपर हो गए हैं लेकिन राहुल का कोई सुराग नहीं मिला। यह केस पहले लोकल पुलिस के पास गया लेकिन उन्हें कोई सुराग नहीं मिला तो यह मामला सीबीआई को दे दिया गया। पुलिस ने इस मामले में राहुल के एक पड़ोसी से पूछताछ की जो दाढ़ी रखता था। तब उसने इस बात को स्वीकार किया कि उसने ही राहुल को मारा है और एक खेत में उसकी लाश फेंक दी है, लेकिन पुलिस को राहुल की लाश तक नहीं मिली।

साल 2006 में ये केस सीबीआई के पास पहुंचा था। लेकिन सीबीआई ने भी कई लोगो से पूछताछ की, राहुल का कोई सुराग नहीं मिला। साल 2014 में सीबीआई ने रिपोर्ट सबमिट कर दी कि राहुल का पता नहीं लगाया जा सका। राहुल को किसने अगवा किया, उसके साथ क्या हुआ, वो जिन्दा भी है या नहीं। केरल कोर्ट ने राहुल को खोजने पर 50 हज़ार का इनाम भी रखा था, लेकिन इससे भी कोई फायदा नहीं हुआ।

Prev1 of 6
Use your ← → (arrow) keys to browse

Leave a comment

Your email address will not be published.