आमिर कुतुब ने की सफाई, बांटे अखबार, अब 10 करोड़ की कंपनी
//

170 कम्पनियों में किया अप्लाई नहीं मिला जॉब तो करने लगे सफाई का काम, अब 10 करोड़ की कंपनी के हैं मालिक

कहते है संघर्ष करने से डरना नहीं चाहिए। एक न एक दिन कामयाबी जरूर कदम चूमती है। जी हाँ यूपी के अलीगढ़ के रहने वाले एक व्यक्ति

कहते है संघर्ष करने से डरना नहीं चाहिए। एक न एक दिन कामयाबी जरूर कदम चूमती है। जी हाँ यूपी के अलीगढ़ के रहने वाले एक व्यक्ति ने एक छोटी जगह से निकलकर बहुत लंबा सफर तय किया है। शख्स धूल भरी गलियों से निकलकर ऑस्ट्रेलिया में मल्टीनेशनल कंपनी खड़ी किया है। बहुत मेहनत के बाद भी कभी 4 महीने में 170 जगह नौकरी के लिए अप्लाई करने वाले व्यक्ति को कामयाबी नहीं मिली तो एयरपोर्ट पर क्लीनिंग स्टाफ को ज्वाइन कर लिया। यही नहीं अखबार बांटना भी शुरू किया। आज डिजिटल सॉल्यूशन की उनकी कंपनी आसमान छू रही है।

170 कंपनियों में किया था अप्लाई

170 कम्पनियों में किया अप्लाई नहीं मिला जॉब तो करने लगे सफाई का काम, अब 10 करोड़ की कंपनी के हैं मालिक

आमिर कुतुब एक मिडिल क्लास फैमिली से आते हैं। 12वीं के बाद आमिर ने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी से मैकेनिकल इंजीनियरिंग में एडमिशन लिया। फिलहाल इंजीनियरिंग के दौरान भी उनका मन नहीं लगता था। इस समय साल 2011 में छात्र संघ का चुनाव लड़े और सचिव निर्वाचित हुए। पढ़ाई पूरी करने के बाद वह दिल्ली में होंडा कंपनी में काम करने लगे। वहां मन नहीं लगा तो आमिर ने स्टूडेंट्स बीजा अप्लाई करके ऑस्ट्रेलिया चले गए। वहां 4 महीने में 170 कंपनियों में अप्लाई किए, लेकिन कहीं सफलता नहीं मिली। तब कुछ नहीं समझ में आया तो वह एयरपोर्ट पर ही क्लीनिंग स्टाफ को ज्वाइन कर लिए। खर्चा नहीं चलता तब वह अखबार भी बांटने लगे।

ऐसे हासिल किया मुकाम

170 कम्पनियों में किया अप्लाई नहीं मिला जॉब तो करने लगे सफाई का काम, अब 10 करोड़ की कंपनी के हैं मालिक

आमिर बताते हैं कि एक दिन बस में एक व्यक्ति मिला, जिसको उन्होंने अपने काम के बारे में बताया। आमिर ने उन्हें ऐसा सिस्टम तैयार करके दिया, जिससे उसके पांच हजार डॉलर हर माह बचने लगे। धीरे-धीरे उसने आमिर को कुछ क्लाइंट दिलवाए। आमिर की मेहनत रंग लाई और वेबसाइट डिजाइनिंग का उनका काम चलने लगा। कंपनी का टर्नओवर 10 करोड़ रुपये हो गया है और उनकी कंपनी में 100 स्थायी और 300 अस्थायी कर्मचारी काम करते हैं।

सम्मान भी मिला

170 कम्पनियों में किया अप्लाई नहीं मिला जॉब तो करने लगे सफाई का काम, अब 10 करोड़ की कंपनी के हैं मालिक

आमिर ने इसके बाद डिजिटल सल्यूशन की कंपनी खोल ली है, यह कंपनी चल गई। यह कंपनी आज सात देशों में अपनी सेवाएं दे रही है। उन्हें ऑस्ट्रेलियन यंग बिजनेस लीडर ऑफ द ईयर का सम्मान भी मिला। यही नहीं ऑस्ट्रेलिया के मेंबर ऑफ गीलोंज अथॉरिटी ने अपने योजना मंत्रालय में उन्हें सलाहकार सदस्य के रूप में शामिल किया है।