बाबा के ढाबा के बाद फरीदाबाद के ‘छंगा बाबा’ का वीडियो वायरल
/

‘बाबा के ढाबा’ के बाद फरीदाबाद के ‘छंगा बाबा’ का वीडियो वायरल, लोगों ने पहुंचाए 60 हज़ार रुपये

बाबा के ढाबाके बाद फरीदाबाद के ‘छंगा बाबा’ का वीडियो खूब वायरल हुआ, जिसके बाद सोशल मीडिया के जरिए लोगों ने उनकी आर्थिक मदद की. फ़रीदाबाद के छंगा बाबा का वीडियो विशाल चौबे नाम के एक शख़्स ने इंडिया टाइम्स हिंदी से शेयर किया. छंगा बाबा से मिलने के बाद हमने उनकी कहानी और संघर्ष आप सभी के सामने रखा. उनकी कहानी लोगों का दिल छू गयी और लोगों ने किसी मुहीम की तरह उनकी मदद की.

 छंगा बाबा के यहां खूब रौनक 

'बाबा के ढाबा' के बाद फरीदाबाद के ‘छंगा बाबा’ का वीडियो वायरल, लोगों ने पहुंचाए 60 हज़ार रुपये

आपको बता दें कि 85 की उम्र में ठेले पर भेलपुरी बेचने वाले बाबा की मजबूरी का वीडियो वायरल होने के बाद आज उनकी ज़िन्दगी बदल चुकी है. इंडियाटाइम्स ने एक बार फिर बाबा से बात की और उनसे पूछा कि मदद के बाद उनकी ज़िंदगी में किया बदलाव आए हैं. हम बाबा की ठेले पर पहुंचे, आज वहां लोगों का हुजूम जुटा हुआ था. बाबा हर तरफ़ लोगों से घिरे थे. उनके ठेले पर उनकी तस्वीर के साथ बाकयदा एक बोर्ड लग चुका था. उनके चेहरे पर बहुत सुंदर मुस्कान थी. वो खुश थे और उनके पास सिर्फ़ लोगों के लिए आशीर्वाद था. तो इस बार नज़ारा बिलकुल अलग था. उनके ठेले का रूपनक्शा भी बदल चुका था. जहां पहले मुश्किल से दोचार लोग आते थे

छंगा बाबा ने कहा कि उनका वीडियो वायरल होने के बाद लोग उनकी खूब मदद कर रहे हैं. कि, अब उन्हें हर कोई आर्थिक मदद कर रहा है. लोग उन्हें 100 रु. से लेकर 1000 रुपये की मदद दे रहे हैं. अब तक बाबा को 60-65 हज़ार रुपये कैश मदद मिल चुकी है, बाबा ने कहा कि लोग उन्हें दिल खोल कर मदद दे रहे हैं.

विशाल का भी बहुत शुक्रिया

'बाबा के ढाबा' के बाद फरीदाबाद के ‘छंगा बाबा’ का वीडियो वायरल, लोगों ने पहुंचाए 60 हज़ार रुपये

बाबा ने उनका वीडियो वायरल करने वाले विशाल का भी बहुत शुक्रिया कहा. उन्होंने कहा कि,

उस बच्चे को मेरी खूब दुआ लगेगी. वो खूब आगे बढ़े. बाबा ने इंडियाटाइम्स को बताया कि, अब उनकी कमाई भी ज्यादा होने लगी है. अब उनकी भेलपुरी को ज्यादा लोग खरीद रहे हैं. पहले कहां 50-70 रुपये की कमाई होती थी, अब 200-250 रुपये की कमाई हो जाती है.”

बाबा ने कहा,

मैं बहुत खुश हूं. मेरी बहुत तकलीफ़ कम हो जाएगी. मेरे नातियों की स्कूल फ़ीस भर जाएगी. बाबा ने अपील करते हुए कहा कि उनकी तरह कई बूढ़ेबुजुर्ग और अपाहिज लोग हैं, जो जीवन जीने के लिए कुछ इस तरह ही जद्दोजहद कर रहे हैं. लोग अगर इसी तरह उनकी मदद के लिए आगे आएं और अपना योगदान दें, तो उनकी ज़िन्दगी भी पूरी तरह से पलट जाएगी.”