टीम इंडिया को तीन बार Yuvraj Singh ने जिताया वर्ल्ड कप, फिर कैंसर को हराकर मैदान में की वापसी, दिलाई सबसे बड़ी जीत
टीम इंडिया को तीन बार Yuvraj Singh ने जिताया वर्ल्ड कप, फिर कैंसर को हराकर मैदान में की वापसी, दिलाई सबसे बड़ी जीत

टीम इंडिया को तीन बार Yuvraj Singh ने जिताया वर्ल्ड कप, फिर कैंसर को हराकर मैदान में की वापसी, दिलाई सबसे बड़ी जीत ∼

भारतीय टीम (Team India) के पूर्व दिग्गज ऑलराउंडर खिलाड़ी युवराज सिंह (Yuvraj Singh) आज अपना 41वां जन्मदिन मना रहे हैं। उन्होंने कई मौके पर भारत के लिए साबित किया है कि, वह इतिहास के सबसे बड़े मैच विनर रहे हैं। 12 दिसंबर 1981 में जन्में युवराज ने तीन बार इंडिया को वर्ल्ड कप जिताया है। जिसके कारण वह दुनिया के धुंरधर बल्लबाजों की लिस्ट में शुमार हैं।

आज भी टीम इंडिया के मुश्किल समय में उनको याद किया जाता हैं। वह अकेले ऐसे खिलाड़ी रहे हैं, जिन्होंने विपक्षी टीम के मुंह से जीत छिनी है। लेकिन यहां तक का युवी का सफर बिल्कुल आसान नहीं रहा है। चलिए तो इस लेख के जरिये आज टीम इंडिया के मैच विनर रहे युवराज के बारे में विस्तार से जानते है।

Yuvraj Singh ने भारत को कई बार वर्ल्ड चैंपियन बनाया

टीम इंडिया को तीन बार Yuvraj Singh ने जिताया वर्ल्ड कप, फिर कैंसर को हराकर मैदान में की वापसी, दिलाई सबसे बड़ी जीत
टीम इंडिया को तीन बार Yuvraj Singh ने जिताया वर्ल्ड कप, फिर कैंसर को हराकर मैदान में की वापसी, दिलाई सबसे बड़ी जीत

भारत के दिग्गज आलराउंडर युवराज सिंह (Yuvraj Singh) का नाम मशहूर क्रिकेटरों में शुमार है। उन्होंने भारत की ओर से खेलते हुए साल 2000 में टीम इंडिया को वर्ल्ड चैंपियन बनाया था। इसी साल भारत ने पहली बार अंडर-19 विश्व कप का खिताब भी जीता था। इस पूरे टूर्नामेंट में युवराज का प्रदर्शन काबिले तारीफ रहा था। उनके अच्छे प्रदर्शन के लिए इस टूर्नामेंट में प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट के अवार्ड से भी नवाजा गया था।

इसके बाद साल 2007 में युवराज सिंह ने एक बार फिर भारत को टी20 वर्ल्ड कप में ट्रॉफी दिलाई। अपनी तूफानी बल्लेबाजी की बदौलत उन्होंने इस जादुई कारनामें को कर दिखाया। इसके अलावा उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड की 6 गेंदों पर 6 छक्के जड़ने का रिकॉर्ड भी अपने नाम किया। वहीं, इस दौरान उन्होंने सिर्फ 12 गेंदों पर अपना अर्धशतक पूरा किया था। यह टी20 क्रिकेट का अब तक का सबसे तेज अर्धशतक था।

तूफानी बल्लेबाजी के लिए क्रिकेट दुनिया में शुमार हुए युवी

टीम इंडिया को तीन बार Yuvraj Singh ने जिताया वर्ल्ड कप, फिर कैंसर को हराकर मैदान में की वापसी, दिलाई सबसे बड़ी जीत
टीम इंडिया को तीन बार Yuvraj Singh ने जिताया वर्ल्ड कप, फिर कैंसर को हराकर मैदान में की वापसी, दिलाई सबसे बड़ी जीत

टीम इंडिया के तेज़ बल्लेबाज युवी (Yuvraj Singh) दुनियाभर में अपनी तूफानी बल्लेबाजी के लिए मशहूर हो गए। उन्होंने अपनी इसी लय को बनाए रखा और साल 2011 का वर्ल्ड कप भी भारत को जिताया। इस विश्व कप में उन्होंने 362 रन और 15 विकेट अपने नाम दर्ज किए। युवी के इस शानदार प्रदर्शन के लिए उन्हें प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट के अवार्ड से सम्मानित किया गया।

वहीं, एक ऐसा दौर भी आया जब, क्रिकेट जगत के लाडले युवराज सिंह (Yuvraj Singh) को कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी ने जकड़ लिया। लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और विदेश में लंबे इलाज के बाद वापस अपने वतन लौटे। जिसके बाद युवी ने साल 2017 में टीम में वापसी की। हालांकि बीमारी से जूझने के बाद वह अपनी लय में फिर कभी नजर नहीं आए। लिहाजा, साल 2019 में इस दिग्गज आलराउंडर ने इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास ले लिया। भले ही आज युवी क्रिकेट के मैदान से दूर है लेकिन आज भी उनके चाहने वालों की कमी नहीं है।

 

यह भी पढ़िये :

IND vs BAN: बांग्लादेश के खिलाफ टेस्ट सीरीज के लिए BCCI ने किया भारतीय टीम का ऐलान, ये 2 मैच विनर खिलाड़ी टीम में हुए शामिल|

ऑस्ट्रेलिया को रौंदने के बाद महिला टीम इंडिया ने जीता दिल, 47000 दर्शकों के बीच तिरंगा लहराकर मनाया जश्न, वायरल हुआ VIDEO|