चयन बोर्ड द्वारा इस पुराने नियम से होगी 15508 शिक्षकों की भर्ती, लाहौर तक की डिग्री होगी मान्य

माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड शिक्षकों की भर्ती इंटरमीडिएट शिक्षा अधिनियम 1921 के आधार पर ही उत्तर प्रदेश मान्यता देता है. उत्तर प्रदेश के सारे 4000 से भी ज्यादा सहायता प्राप्त माध्यमिक स्कूलों में 15508 शिक्षकों की जाएगी जो कि भर्ती 100 साल पुराने नियम से ही की जाएगी. 100 साल पुराने एक्ट में समय-समय पर संशोधन किए जाते रहे हैं लेकिन इन सबके बावजूद भी बहुत सी विसंगतियां बीच में आई है. सभी अभ्यर्थियों को हाई कोर्ट के चक्कर भी लगाने पड़ते थे. योग शिक्षकों की भर्ती में भी काफी मुश्किलें ज्यादातर आती रही हैं.

 

चयन बोर्ड द्वारा इस पुराने नियम से होगी 15508 शिक्षकों की भर्ती, लाहौर तक की डिग्री होगी मान्य

 

प्रतियोगी छात्र हुए आंदोलित

बैचलर ऑफ फाइन आर्ट्स (BFA) या मास्टर ऑफ फाइन आर्ट्स (MFA) जैसे कला विषयों पर शिक्षकों की अहर्ता को लेकर सबसे ज्यादा विवाद चलता रहा है. योग्यता वाले लोगों को दरकिनार कर दिया जाता है, और इंटर स्तर के डिप्लोमा को अधिक प्राथमिकता दी जाने लगी है. इतना ही नहीं दूसरी तरफ प्रशिक्षित स्नातक विज्ञान की अहर्ता के बारे में भी काफी विवाद शुरू हो चुका है. विज्ञान विषय में भौतिक और रासायनिक विज्ञान के बीएससी के आवेदन भी मांगे जाने की उम्मीद की गई है. इसके अलावा जीव विज्ञान या फिर वनस्पति विज्ञान से बीएससी करने वाले जितने भी छात्र थे, उन्हें अब बाहर कर दिया गया है.

बैचलर ऑफ फाइन आर्ट्स और मास्टर ऑफ फाइन आर्ट्स के साथ ही साथ विज्ञान के भौतिक और रासायनिक विज्ञान और जीव विज्ञान या वनस्पति विज्ञान से बीएससी करने वाले सभी प्रतियोगी छात्र अब आंदोलित हो रहे हैं.

 

चयन बोर्ड द्वारा इस पुराने नियम से होगी 15508 शिक्षकों की भर्ती, लाहौर तक की डिग्री होगी मान्य

 

राजकीय कला और शिल्प विद्यालय लखनऊ का आर्ट्स मास्टर्स ट्रेनिंग सर्टिफिकेट प्रशिक्षित स्नातक कला के लिए या प्राविधिक कला के साथ यूपी बोर्ड से इंटर पास वालों के लिए मान्य होगा. प्राविधिक कला के साथ-साथ हाईस्कूल और ड्राइंग या फिर पेंटिंग के साथ बैचलर ऑफ आर्ट या फिर कला भवन शांति निकेतन फाइन आर्ट के डिप्लोमा भी मान्य किया जाएगा. राजकीय कला और हैंडीक्राफ्ट सेंटर प्रयागराज के सर्टिफिकेट के अलावा कलकत्ता की फाइनल ड्राइंग टीचर्सशिप को भी मान्यता दी गई है.

लाहौर के सर्टिफिकेट की होगी मान्यता

बता दें कि लाहौर के मेयो स्कूल ऑफ आर्ट्स की टीचर सीनियर सर्टिफिकेट और प्रवक्ता पद की भर्ती में लाहौर का सर्टिफिकेट मान्य है. इसके अलावा मुंबई की इंटर ड्राइंग परीक्षा और मुम्बई की थर्ड ग्रेड आर्ट्स स्कूल परीक्षा भी मान्य की गई है. चयन बोर्ड द्वारा कला विषय के लिए अंतर्गत प्रशिक्षित स्नातक के लिए 813 और प्रवक्ता के लिए 76 पदों पर भर्ती के लिए आवेदनों की मांग की गई है.

 

चयन बोर्ड द्वारा इस पुराने नियम से होगी 15508 शिक्षकों की भर्ती, लाहौर तक की डिग्री होगी मान्य

 

शिक्षक विधायक ने दी जानकारी

शिक्षक विधायक सुरेश कुमार त्रिपाठी का कहना है कि, ”सहायता प्राप्त माध्यमिक स्कूलों में योग शिक्षकों के चुनाव के लिए माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड को जिम्मेदारी दी गई”. उन्होंने बताया कि कायदे कानून कभी अपडेट रखना बहुत जरूरी है यदि ऐसा नहीं होता है तो बेवजह विवाद के कारण चयन प्रक्रिया पूरी नहीं हो सकती”.

 

 

 

ये भी पढ़े:

आज से लागु हो रहे बैंक के ये नियम, जाने वरना भरने होंगे चार्ज |

बेटे की गलती के बाद कुमार सानू ने मांगी माफ़ी, अपने ही पत्नी पर लगाए ये आरोप |

कोरोना वायरस से हो रहा दिमाग को खतरा, पीड़ित लोगों ने बताई आपबीती |

घर की छत पर बना दिया स्कॉर्पियो, कारण जानकर हो जायेंगे हैरान |

कालीन भैया की नौकरानी राधा रियल लाइफ में है बेहद हॉट और बोल्ड |

Urvashi Srivastava

मेरा नाम उर्वशी श्रीवास्तव है. मैं हिंद नाउ वेबसाइट पर कंटेंट राइटर के तौर पर...

Leave a comment

Your email address will not be published.