केबीसी: 25 लाख के इस सवाल का जवाब नहीं दे सका प्रतियोगी
//

KBC 12: 25 लाख के इस सवाल का जवाब नहीं दे सका प्रतियोगी, क्या आपकों पता है जवाब

KBC :  शो टीवी की दुनिया का सबसे ज्यादा पसंद किया जाने वाला शो बन चुका है. मेगास्टार अमिताभ बच्चन के इस शो का लोग बेसब्री से इंतजार कर रहे थे, हाल ही में कौन बनेगा करोड़पति 12 शुरू हो गया है. शो शुरू होते ही इसकी टीआरपी भी खूब ऊपर जा रही है. केबीसी का यह लेटेस्ट सीजन 28 सितंबर को शुरू हो चुका है.

इस शो के आठवें सीजन में अब बुधवार को अमिताभ बच्चन ने प्रतियोगी अस्मिता माधव गोरे को निमंत्रित किया है. प्रतियोगी अस्मिता ने इस शो में लगातार 12 सवालों का जवाब बिल्कुल सही दिया. जिसके बाद सभी को यही उम्मीद थी कि, अब अस्मिता आगे भी सभी सवालों का जवाब सही ही देंगी.

पूछा गया पूरे 25,00000 का सवाल

अस्मिता ने सभी सवालों का तो सही जवाब दिया, लेकिन जब उनसे सवाल नंबर 13 किया गया, जो कि पूरे 25,00000 का सवाल था, तो उन्हें शो को क्विट करना पड़ गया. जी हां अस्मिता इस सवाल का जवाब देने में अटक कर रह गई. अब हम आपको बताते हैं कि, वह कौन सा ऐसा सवाल था जो पूरे 25,00000 का था, और प्रतियोगी भी उस सवाल का जवाब देने में असफल रही.

यह भी पढ़े: केबीसी के सेट पर हुआ कुछ ऐसा अमिताभ बच्चन की भर आईं आंखे

सवाल –

दरअसल सवाल पूछा गया था कि, “दिए गए ऑप्शन में से कब 1905 में बंगाल विभाजन पर विरोध करने में और लोगों में एकता दिखाने करने के लिए विशेष तरीके से दिन मनाया गया था?”

जवाब के लिए दिए गए ऑप्शन-

1. रक्षा बंधन                                       2. दशहरा

3. ईद                                                4. ईस्टर संडे

सही जवाब-

अगर जवाब की बात की जाए तो इस प्रश्न का सही जवाब ‘रक्षाबंधन’ है.

पूरा जवाब –

असम में वर्ष 1905 अगस्त माह में भारत के तत्कालीन वायसराय लॉर्ड कर्ज़न व एक मुस्लिम डेलीगेशन के बीच एक बैठक हुई, इस बैठक में ये फैसला लिया गया कि, धार्मिक आधार पर बंगाल का विभाजन किया जाएगा. यह फैसला लेने के बाद इसे 16 अक्टूबर 1905 में लागू कर दिया गया था. मुस्लिम धर्म को यह फैसला स्वीकार हुआ क्योंकि मुसलमानों को अपनी पहचान के लिए एक अलग राज्य दिया जा रहा था.

खास बात यह है कि 16 अक्टूबर को हिंदू कैलेंडर में श्रावण मास का आखरी दिन था और उसी दिन को राखी पुर्णिमा के रूप में मनाया गया. रविंद्र नाथ टैगोर ने हिंदुओं और मुसलमानों से यह रिक्वेस्ट की थी कि, वह एक दूसरे के बीच एकता दिखाने के लिए कलाई पर धागा बांधकर एकजुटता दिखाएं. उन्होंने बंगाल को धार्मिक आधार पर विभाजित करने की वजह से वायसराय कर्नल के इस आदेश पर प्रोटेस्ट लीड किया.

इस सवाल के बाद अस्मिता ने शो को छोड़ कर वापस अपने घर चली गई. इस शो में उन्होंने 12.5 लाख रुपए का इनाम जीता.

यह भी पढ़े: केबीसी से करोड़पति बने सुशील कुमार, फिर शुरू हुआ सबसे बुरा दिन तालाक की आ गई थी नौबत

यह भी पढ़े: करोड़ो की ये कार सिर्फ 3700 किमी चला मात्र 30 लाख में बेच रहे हैं अमिताभ बच्चन, जाने वजह

यह भी पढ़े: अमिताभ बच्चन ने खरीदी नई लग्जरी कार, कीमत जानकर उड़ जाएंगे होश