माँ की जिद की वजह से करीना के करियर पर लगा है ये ताउम्र दाग
/

माँ की जिद की वजह से करीना के करियर पर लगा है ये ताउम्र दाग, हुई थी फिल्म से बाहर

मुंबई: बॉलीवुड एक्टर, डायरेक्टर और प्रोड्यूसर राकेश रोशन ने कई सुपरहिट फिल्मों को डायरेक्ट किया है।  जिनमें से साल 2000 में आई सुपरहिट फिल्म ‘कहो ना प्यार’ भी शामिल है। सूत्रों के अनुसार अगर करीना कपूर की मां बबिता जिद पर न अड़तीं तो, ये फिल्म करीना कपूर की डेब्यू फिल्म होती।

अमीषा की जगह करीना को किया था साइन

बता दें कि दरअसल इस फिल्म के लिए अमीषा पटेल से पहले करीना को साइन किया गया था। वहीं करीना ने इस फिल्म के कई सीन भी शूट कर लिए थे। हालांकि, अपनी मां बबिता की एक जिद के चलते उन्हें यह फिल्म बीच में ही छोड़नी पड़ी थी।

करीना की मां बबिता ने की थी ये जिद

करीना की शूटिंग के पहले दिन एक डांस फिल्माया जाना था, वहीं उन्हें सपोर्ट करने के लिए मां बबिता व बहन करिश्मा भी मौजूद थीं। कोरियोग्राफर ने करीना को कुछ आसान स्टेप्स दिए। पहला दिन खत्म होने तक करीना ने कुछ डांस स्टेप्स फाइनल किए। जिसके अगले दिन बबिता ने राकेश रोशन को फोन किया और बोलीं- पहले दिन से ही करीना डांस के लिए कम्फर्टेबल नहीं है, इसलिए आप उससे गाने की जगह शुरू में एक्टिंग सीन करवा लें।

यह सुनकर उन्होंने बबिता को समझाया कि करीना को डांस करने में कोई दिक्कत नहीं है। लेकिन बबिता ने राकेश रोशन की एक नहीं सुनी और उन्होंने गुस्से में फोन पटकने से पहले कहा- करीना के लिए पहले गाना नहीं फिल्म के सीन शूट कराए जाएं। नहीं तो मैं करीना को यह फिल्म नहीं करने दूंगी।

जिसके बाद मीडिया में भी खबर आई कि बबिता, राकेश रोशन को अनप्रोफेशनल डायरेक्टर बता रही हैं। हालांकि बाद में एक इंटरव्यू के दौरान राकेश रोशन ने बताया था, कि करीना अब फिल्म ‘कहो ना प्यार है’ में काम नहीं कर रही हैं। फिलहाल रोकश रोशन ने करीना को फिल्म से बाहर निकालने की सटीक वजह नहीं बताई थी, क्योंकि करीना के पिता रणधीर कपूर उनके बेहद करीबी दोस्त हैं।

इंटरव्यू में राकेश रोशन ने कही थी ये बात

वहीं एक अन्य इंटरव्यू में राकेश ने कहा था कि बबिता करीना की हेल्प करने के बजाय उनका करियर बर्बाद करने पर तुली हुई हैं। नई एक्ट्रेस के तौर पर, करीना को कैसे ट्रीट करना है ये एक डायरेक्टर को बखूबी पता है। सिर्फ इसलिए करीना को स्पेशल ट्रीट नहीं किया जा सकता कि वो करिश्मा कपूर की बहन हैं।

आगे राकेश ने कहा, बबिता को मुझसे थोड़ा नरमी से बात करनी चाहिए थी, लेकिन उनकी डिमांड तो कुछ अलग ही थी। फाइनली राकेश ने फिल्म के लिए अमीषा पटेल को साइन कर लिया। जिसके बाद करीना की मां बबिता ने सफाई देते हुए कहा कि कमजोर स्क्रिप्ट की वजह से करीना ने यह फिल्म छोड़ दी है।

हालांकि बाद में जेपी दत्ता ने फिल्म ‘रिफ्यूजी’ शुरू की। वहीं बबिता के कहने पर जेपी दत्ता ने  इस फिल्म में करीना को ले लिया। इस फिल्म में उनके अपोजिट अभिषेक बच्चन थे और उनकी भी यह डेब्यू फिल्म थी। हालांकि ‘कहो ना प्यार है’ जहां सुपर-डुपर हिट साबित हुई वहीं,  ‘रिफ्यूजी’ की गिनती आज भी फ्लॉप फिल्मों में होती है।

 

 

 

 

ये भी पढ़े:

एनसीबी ऑफिस पहुंचते ही पत्रकारों से घिरीं रिया, ऋचा चड्ढा ने कहा- भाड़ में जाए |

कोरोना संक्रमण मामले में ब्राजील को पछाड़कर दूसरे स्थान पर पहुंचा भारत |

चीन की फिर बंदर घुड़की, अमेरिका का साथ भी न बचा पायेगा, बुरी तरह हारेगा भारत |

अर्जुन कपूर के बाद मलाइका अरोड़ा भी निकली कोरोना पॉजिटिव |

7 सितंबर 2020: जन्मतिथि के अनुसार जानें कैसा रहेगा आपका आज का दिन |