बिहार में कोरोनावायरस ने बरपाया अपना कहर, 24 घंटे में आए 1600 से ज्यादा केस

पटना: बिहार में कोरोनावायरस से हालात लगातार बिगड़ते जा रहे हैं। जहां लगातार कोरोनावायरस के मामले बढ़ रहे हैं वहीं अब स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को लेकर भी नए और गंभीर सवाल उठने लगे हैं जिसको लेकर प्रशासन की मुश्किलें भी बढ़ रही है। साथ ही राज्य में रिकवरी रेट भी बहुत तेजी से घटने लगा है ये सभी कारण राज्य में स्थिति बद-से-बदतर होने के संकेत दे रहे हैं।

1,600 से ज्यादा केस

बिहार में कोरोनावायरस ने बरपाया अपना कहर, 24 घंटे में आए 1600 से ज्यादा केस

पिछले 24 घंटों में बिहार में 1,600 से ज्यादा कोरोनावायरस के मामले सामने आए हैं। आपको बता दें कि बिहार में संक्रमण‌ के कुल 26,379 हो गए हैं जिनमें से‌ 16597 लोग ठीक होकर घर जा चुके हैं। जबकि 9,602 केस अभी भी एक्टिव हैं।

कम होता रिकवरी रेट

एक तरफ जब अब पूरे देश में कोरोनावायरस का रिकवरी रेट धीरे-धीरे बढ़ रहा है तो बुरी बात ये है कि बिहार में पिछले 24 घंटों में 10276 लोगों के सैंपल लिए गए थे।सबसे अहम बात ये‌ है कि राज्य में रिकवरी दर में गिरावट देखी गई है और ये एक‌ बड़ी मुश्किल है। सबसे ज्यादा प्रभावित जिलों में पटना, दरभंगा, सीवान, बेगूसराय शामिल हैं जहां लगातार स्थितियां बिगड़ रही हैैं।

सांसद भी कोरोनावायरस से संंक्रमित

दरअसल बिहार के झांझरपुर के जेडीयू सांसद भी कोरोनावायरस से संंक्रमित सो गए हैं जिसके चलते उन्हें आइसोलेशन में रखा गया है। साथ ही उनका उपचार भी शुरू कर दिया है। कोरोनावायरस की जद में अब आम आदमी के अलावा नेता भी आ रहे हैं। जिससे स्थितियां भयावह होने के सबूत मिल रहे हैं। यही नहीं औरंगाबाद में सांसद के घर से दो‌ कोरोनावायरस से संंक्रमित मामले मिले हैं जिसके बाद 22 लोगों के कोरोना सैंपल लिए गए हैं।

मौतों का बढ़ता आंकड़ा

बिहार के स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक पटना में 28 और भागलपुर में 16, गया में 13, दरभंगा में 10, नालंदा चंपारण और समस्तीपुर में 7-7 लोगों की मौत हुई है। इसके साथ ही प्रदेश में कुल मौतों का आंकड़ा 179 तक पहुंच गया है। बुरी बात ये है कि मौतों का आंकड़ा अब अधिक तेजी से बढ़ रहा है पिछले 24 घंटों में खागड़िया और सारण में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है।

प्राइवेट अस्पताल में बने कोरोना वार्ड

प्रशासन ने पटना के दो प्राइवेट अस्पतालों को कोरोनावायरस के दो कोरोना वार्ड खोलने का आदेश दे दिया है। जिसमें 25-25 बेड के वार्ड रखे गए‌ हैं। इस बबात प्रशासन ने जानकारी दी है कि आगे आने वाले समय में ऐसे और फैसले लिए जा सकते हैं क्योंकि प्राइवेट अस्पतालों की तरस हे ऐसे कई आवेदन आए हैं।

 

 

 

ये भी पढ़े:

ट्वीटर पर टॉप 20 में किस स्थान पर हैं भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी |

1800 लोग हुए ट्रायल के लिए तैयार, दिल्ली एम्स में होगा परीक्षण |

प्रियंका चोपड़ा ने पति निक जोनस को अलग अंदाज़ में लिखा “थैंक्यू नोट”  |

बुध और राहु के संयोग से कई राशियों को होगा नुकसान |

Leave a comment

Your email address will not be published.