ये हैं वो देश जहां पर नहीं है कोरोनावायरस का एक भी मरीज

ये हैं वो देश जहां पर नहीं है कोरोनावायरस का एक भी संंक्रमित मरीज

वैश्विक महामारी कोरोनावायरस के इस दौर में यह दुनिया के वह देश हैं जहां कोरोनावायरस अपना आतंक नहीं मचा सका है।

ये वक्त जब पूरी दुनिया में कोरोनावायरस का प्रकोप है जहां लोग इसे केवल कोरोनावायरस की वैक्सीन का इंतजार कर रहे हैं। जब डेंढ़ करोड़ से ज्यादा लोग दुनिया में और 11 लाख लोग भारत में संंक्रमित हैं। ऐसे में कुछ देश ऐसे भी हैं जिन्होंने कोरोनावायरस को अपनी दहलीज पर भी अदम नहीं रखने दिया है और वैश्विक महामारी के इस वक्त में भी इन देशों से कोरोनावायरस का एक भी केस नहीं मिला है।

उत्तर कोरिया

अपने तानाशाही शासन के लिए मशहूर उत्तर कोरिया में वैश्विक महामारी के 8 महीनों के बावजूद कोरोनावायरस का एक भी केस दर्ज नहीं हुआ है जो एक हैरान करने वाली खबर है। पड़ोसी देश दक्षिण कोरिया है जहां 13 हजार से ज्यादा कोरोना के मामले आ चुके हैं लेकिन उत्तर कोरिया में… एक भी नहीं।

सच तो ये भी है कि इस देश के बारे में किसी को कोई सूचना ही नहीं मिल पाती है क्योंकि यहां कोई आता जाता नहीं है और खबरों के आभाव में तानाशाह किम जोंग उन का तांडव चलता रहता है।

माइक्रोनेशिया

प्रशांत महासागर में फैला 21,000 वर्गकिलोमीटर में फैला ये देश असल में 21,00 दीपों का एक समूह है। समूहों का सबसे बड़ा द्वीप गुआम माना जाता है। दुनिया भर के प्राकृतिक सौंदर्य के लिए ये देश महत्वपूर्ण माना जाता है। मरियाना आइलैंड, गिलबर्ट आइलैंड यहां सैलानियों का आकर्षण माने जाते हैं। पर्यटन बंद होने के कारण यहां कोई नहीं आया जिससे यहां कोरोनावायरस का कोई केस। दर्ज नहीं हुआ।

मार्शल आइलैंड

ये भी माइक्रोनेशियाई एक राष्ट्र है जो प्रशांत महासागर के मध्य में स्थित है। यहां रहने वालों की संख्या 53,413 है। यहां की मुख्य भाषाएं अंग्रेजी और मार्शलीज हैं। यह 1156 द्वीपों से बना एक महाद्वीप है जो मुख्यता अपनी सुंदरता के लिए जाना जाता है।

यहां कितनी फीसदी पता है जमीन की है और यहां का सबसे बड़ा शहर माजूरो आइलैंड है। इस महाद्वीपीय राष्ट्र में आधिकारिक मुद्रा अमेरिकी डॉलर ही है, वैश्विक महामारी के इस दौर में यहां पर कोई भी कोरोनावायरस का पेशेंट नहीं मिला है।

किरीबाती

किरीबाती भी प्रशांत महासागर में स्थित एक द्वीप है जो कि बिखरे हुए 32 द्वीपों के समूह से बना है। यहां की मुख्य जनसंख्या करीब 1,10,000 है। इस देश की अर्थव्यवस्था का मुख्य जरिया यहां के समुद्री संसाधन और पर्यटन को माना जाता है। प्राकृतिक सुंदरता के चलते इस राष्ट्र को पर्यटक खूब पसंद करते हैं। पर्यटन बंद होने के कारण यहां कोरोनावायरस का संक्रमण नहीं फैल सका।

नाउरू

नाउरू भी प्रशांत महासागर में स्थित एक द्वीपों का समूह ही है देश की जनसंख्या 12704 है। इसे दुनिया का सबसे छोटा देश भी जाता है। यहां के मुख्य मुद्रा राशि अमेरिकी डॉलर है। इस देश में प्रशासनिक रूप से ऑस्ट्रेलिया का काफी रसूख है। यह पर्यटन के लिए एक अच्छा देश माना जाता है जहां की प्राकृतिक सुंदरता लोगों को बेहद पसंद आती है।

यह सारे ऐसे देश हैं जहां वैश्विक महामारी कोरोनावायरस का एक भी केस नहीं मिला है। उत्तरी कोरिया एक ऐसा अपवाद है जहां तानाशाही शासन है। जिसके चलते आधिकारिक रूप से वहां पर कोई केस नहीं है। लेकिन ऐसा माना जा रहा है उत्तरी कोरिया में रहने वाले जिन लोगों को कोरोनावायरस का संक्रमण हुआ वहां की सरकार ने उन्हें मरवा दिया।

 

 

 

ये भी पढ़े:

ट्वीटर पर टॉप 20 में किस स्थान पर हैं भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी |

1800 लोग हुए ट्रायल के लिए तैयार, दिल्ली एम्स में होगा परीक्षण |

प्रियंका चोपड़ा ने पति निक जोनस को अलग अंदाज़ में लिखा “थैंक्यू नोट”  |

बुध और राहु के संयोग से कई राशियों को होगा नुकसान |