शिवसेना की गुंडागर्दी भारतीय नौसेना अधिकारी की सरेआम पिटाई
//

शिवसेना की गुंडागर्दी भारतीय नौसेना के अधिकारी की सरेआम पिटाई

महाराष्ट्र में शिवसेना के कार्यकर्ताओं की गुंडागर्दी बढ़ती ही जा रही है. शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने असहिष्णुता और मारपीट की सारी हदें पार कर दी. शुक्रवार को शिवसेना के गुंडों ने नौसेना के एक अधिकारी पर हमला कर दिया. पूर्व नौसेना अधिकारी मदन शर्मा 62 वर्ष के हैं. हम आपको बता दें कि रिटायर्ड नौसेना अधिकारी मदन शर्मा ने व्हाट्सएप पर एक मैसेज फॉरवर्ड कर दिया था, जिसके बाद शिवसेना के गुंडों ने उन पर हमला कर दिया.

शिवसेना कार्यकर्ताओं की इस गुंडागर्दी और मारपीट के बाद पूर्व नौसेना अधिकारी मदन शर्मा के सर पर काफी चोटें आई. मदन शर्मा जी को कांदीवली के शताब्दी अस्पताल में भर्ती करवा दिया गया है. रिटायर्ड अधिकारी पर हमला करने पर शिवसेना के कार्यकर्ताओं के खिलाफ कांदिवली पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज करवा दी गई है. शिकायत दर्ज होने के बाद शिवसेना के गुंडों पर जल्द ही कार्यवाही करने मांग की जा रही है.

 

कैसे हुआ हमला

बताया जा रहा है कि शिवसेना के गुंडों ने पूर्व नौसेना अधिकारी के घर पर घुसकर हमला किया. जिन गुंडों ने हमला किया उसका नेतृत्व शिवसेना की शाखा प्रमुख के द्वारा किया जा रहा था. हमला करने से पहले मदन शर्मा को गुंडों ने बाहर आने के लिए बोला, जब मदन शर्मा जी घर से बाहर आए तो गुंडे ने उन पर अचानक से हमला कर दिया. इस हमले के बाद मदन शर्मा जी की आंखों पर भी काफी गहरी चोट आई.

क्या था व्हाट्सएप से फॉरवर्ड किए गए मैसेज में

यह बात तो आप के दिमाग में जरूर आई होगी कि मदन जी के द्वारा किए गए फॉरवर्ड मैसेज ऐसा क्या था, कि इतना खतरनाक हमला हुआ. हम आपको बता दें कि फॉरवर्ड किए गए संदेश में एक हास्य व्यंग का कार्टून था, जिसमें शिव सेना के प्रमुख और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और उनके सहयोगी थे.

व्यंग कार्टून में ठाकरे के साथ शरद पवार और सोनिया गांधी भी थे. इस व्यंग को फॉरवर्ड करने पर शिवसेना के गुंडे इस कदर भड़क गए कि उन्होंने पूर्व नौसेना अधिकारी मदन शर्मा पर हमला बोल दिया.

 

पहले भी गुंडागर्दी के कई मामले सामने आए थे

शिवसेना कार्यकर्ता शुरुआत से ही हिंसा के मार्ग पर चलते आए हैं. इससे पहले भी शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने फरवरी महीने के दौरान नागपुर में एक सरकारी कर्मचारी के साथ मारपीट की थी. नागपुर में सरकारी कर्मचारी पर हमला करने की वजह थी कि वो लोग राज्य पर बकाया राशि एकत्र करना चाहते थे.

यह सब मारपीट भी कैमरे में कैद हो गई थी. इतना ही नहीं इससे पहले भी दिसंबर महीने में मुंबई के वडाला इलाके में एक व्यक्ति की पिटाई कर दी गई थी, और उसका सर फोड़ दिया गया था. यह सारी हरकतें कैमरे में कैद हो जाने के बाद सोशल मीडिया पर उधव ठाकरे को लेकर कई आपत्तिजनक टिप्पणियां भी की गई थी.

कुछ समय बाद यह भी खबर आई थी कि शिवसेना की एक महिला कार्यकर्ता ने कथित रूप से एक व्यक्ति पर स्याही फेंकी थी. महिला कार्यकर्ता ने उसका कारण यह बताया था कि आरोपी व्यक्ति ने महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे को लेकर फेसबुक पर आपत्तिजनक पोस्ट की थी.

हैरानी की बात यह है कि सिर्फ एक व्हाट्सएप मैसेज फॉरवर्ड करने पर 62 वर्षीय मदन शर्मा जी के साथ मारपीट की गई. अब देखना यह है कि इस मामले पर कब तक कार्यवाही की जाती है.

 

 

 

 

 

ये भी पढ़े:

करण जौहर की ड्रग्स पार्टी में दीपिका पादुकोण, अर्जुन कपूर और ….. |

नेपोटिज्म पर खुलकर बोले जॉन अब्राहम, खोला बॉलीवुड इंडस्ट्री का काला सच |

यूपी के इस जिले में हैंडपंप से पानी की जगह निकली शराब, पुलिस भी हुई हैरान |

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह हुए कोरोना संक्रमित, पीजीआई में भर्ती |

2024 से पहले सबको नहीं मिल पाएगी कोरोना की वैक्सीन: सीरम इंस्टीट्यूट |