भारत की आजादी से पहले शुरू हुई ये 7 कंपनियां, देश की अर्थव्यवस्था में देती हैं अपना योगदान
भारत की आजादी से पहले शुरू हुई ये 7 कंपनियां, देश की अर्थव्यवस्था में देती हैं अपना योगदान
Prev1 of 7
Use your ← → (arrow) keys to browse
हर साल की तरह ही इस साल भी देश हर्षोंउल्लास के साथ 15 अगस्त यानि की भारत की आज़ादी की 75वीं वर्षगांठ (75 Azadi ka Amrit Mahotsav) मना रहा हैं। इस दिन, भारतीय उन वीरों को श्रद्धांजलि देते हैं जिन्होंने देश की आजादी के लिए वीरतापूर्वक लड़ाई लड़ी हैं। भारत देश को बनाने में बहुत से लोगों का हाथ हैं।
वहीं बात करें अर्थव्यवस्था की तो किसी भी देश के लिए मजबूत अर्थव्यवस्था बहुत जरूरी हैं। हलांकि भारत में भी ऐसी कई बड़ी कंपनियां मौजूद हैं जो अपनी भागीदारी के जरिये भारत की अर्थव्यवस्था (economy) को एक मजबूत आधार प्रदान करती हैं। आज हम इस लेख के जरिये भारत की ऐसी ही कंपनियों के विषय में आपको बताने वाले हैं।

1. टाटा समूह – 1868

भारत की आजादी से पहले शुरू हुई ये 7 कंपनियां, देश की अर्थव्यवस्था में देती हैं अपना योगदान
भारत की आजादी से पहले शुरू हुई ये 7 कंपनियां, देश की अर्थव्यवस्था में देती हैं अपना योगदान

साल 1868 में शुरू हुई कंपनी टाटा ग्रुप ऑफ कंपनीज एक भारतीय वैश्विक समग्र होल्डिंग संगठन हैं। जिसका मुख्यालय मुंबई, महाराष्ट्र में हैं। बता दें कि जमशेदजी नसरवानजी टाटा ने एक निजी व्यापारिक इकाई के रूप में टाटा समूह की स्थापना की। वह एक देशभक्त और मानवतावादी थे, जिनके आदर्शों और दूरदर्शिता ने एक असाधारण व्यापारिक समूह को आकार दिया। वहीं आज के समय में देश की अर्थव्यवस्था (economy) में कंपनी का बहुत बड़ा योगदान हैं।

Prev1 of 7
Use your ← → (arrow) keys to browse