एक दिन आए कोरोनावायरस के रिकार्ड 40 हजार से ज्यादा केस, मानसून में बढ़ेगी संक्रमण की रफ्तार

24 घंटे में आए कोरोनावायरस के रिकार्ड 40 हजार से ज्यादा केस, मानसून में बढ़ेगी संक्रमण की रफ्तार

पिछले 24 घंटों में कोरोनावायरस के 40 हजार से ज्यादा संक्रमण के मामले सामने आए हैं। वहीं यूपी बिहार में स्थितियां खराब होने लगी हैं।

नई दिल्ली: भारत में कोरोनावायरस की रफ्तार का विश्लेषण इस बात से ही किया जा सकता है कि मात्र तीन दिनों में कोरोना के एक लाख से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। ये स्थिति भयावह होती जा रही है। देश में अब तक कुल 11 लाख 18 हजार 107 मामले सामने आए हैं। कोरोनावायरस के इस जानलेवा प्रकोप से अब 27 हजार 503 लोगों की मौत भी हुई है, लगातार बढ़ती मौतें स्थितियां भयावह कर रहीं हैं।

एक दिन में 40 हजार से ज्यादा केस

पिछले 24 घंटों में कोरोनावायरस के 40 हजार से ज्यादा मामले सामने आए हैं। ये कब तक का एक दिन का सबसे बड़ा आंकड़ा है। पिछले तीन दिनों से लगातार 35 हजार से ज्यादा केस आए थे, लेकिन अब वो सारे रिकॉर्ड धराशाई हो गए हैं।

गौरतलब ये भी है कि इस दौरान 675 कोरोना संंक्रमित मरीजों की मौत भी हुई है, सबसे ज्यादा परेशान करने वाली बात ये है कि प्रतिदिन होने वाली मौतों के आंकड़े भी अब बढ़ने लगे हैं।

दिल्ली से खुशखबरी

राजधानी में हर दिन कोरोनावायरस के केस बढ़ने की खबर सभी को परेशान करती है लेकिन आज दिल्ली से अच्छी खबर ये है कि पिछले 24 घंटों में कोरोनावायरस के 1,211 मरीज सामने आए तो इस दौरान 1,860 मरीज ठीक होकर घर जा चुके हैं। दिल्ली में धीरे-धीरे ही सही पर स्थितियां सुधार की तरफ अग्रसर हैं। कुल संंक्रमित 1,22,793 मामलों में से एक्टिव केस 16,031 एक्टिव केस बचे हैं।

7 लाख से ज्यादा डिस्चार्ज

एक अच्छी खबर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय से भी आई है कि अब कोरोनावायरस के मामले में संंक्रमित मरीजों के डिस्चार्ज होने की तादाद 7 लाख के पार जा चुकी है। जानकारी के मुताबिक 7 लाख 339 लोग कोरोनावायरस से ठीक होकर घर जा चुके हैं जबकि कोरोना से संंक्रमित कुल एक्टिव केस की संख्या करीब 3 लाख 89 हजार बची है।

तमिलनाडु में आए ज्यादा मामले

कोरोनावायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्यों में से एक तमिलनाडु में पिछले 24 घंटों में 4,979 मामले सामने आए हैं जो एक बुरी खबर है जबकि अच्छी बात ये है कि इस दौरान 4,059 लोगों को ठीक होने के बाद डिस्चार्ज कर दिया गया है। डिस्चार्ज होने वालों से जुड़ी ख़बरें किसी सुकून की तरह ही है़ं।

भुवनेश्वर से बुरी खबर

इस दौर में जब कोरोनावायरस के कारण लोगों की मुसीबतें बढ़ गई। हैं ऐसे में आइआइटी और एम्स की एक साझा रिपोर्ट सामने आई है जो परेशान करने वाली स्थिति बनती है। दरअसल इस रिपोर्ट में कहा गया है कि मानसून में कोरोनावायरस और अधिक रफ्तार से फैल सकता है। इस अध्ययन में संक्रमण बढ़ने की वजह तापमान में गिरावट को माना जा रहा है।

असम में बिगड़ते हालात

असम में कोरोनावायरस के एक हजार से ज्यादा मामले सामने आए हैं। बड़ी बात ये भी है कि असम में कोरोनावायरस और बाढ़ की दोहरी मार है। पिछले 24 घंटों में यहां 1,018 मामले सामने आने के साथ ही राज्य में कुल संक्रमण की संख्या 24 हजार के करीब पहुंच गई है। राज्य में अभी तक 7,916 एक्टिव केस हैं जबकि 16 हजार से ज्यादा मरीज ठीक हो चुके हैं।

यूपी बिहार में ज्यादा मामले

आपको बता दें कि पिछले 24 घंटों में कोरोनावायरस के अधिक मामले सामने आए हैं। इसी बीच बिहार, उत्तर प्रदेश और गुजरात में संक्रमण के मामले सबसे ज्यादा आए हैं। जबकि सबसे ज्यादा केस कोरोनावायरस के सबसे प्रभावित राज्य महाराष्ट्र से आए हैं जिनकी संख्या करीब 9,518 तक आई हैं। इसके साथ ही दूसरे नंबर पर तमिलनाडु है जबकि तीसरे नंबर पर राजधानी दिल्ली में अब हालात अब धीरे-धीरे सुधरने लगे हैं जो अन्य राज्यों के लिए उदाहरण बन सकतें हैं।

छत्तीसगढ़ में लॉकडाउन

कोरोनावायरस के बढ़ते ग्राफ को देखते हुए छत्तीसगढ़ सरकार ने अब एक बड़ा फैसला लिया है। दरअसल सरकार ने अब 22 जुलाई से राजधानी रायपुर और बिरगांव में 7 दिनों के सख्त लॉकडाउन का ऐलान कर दिया है जिसका पालन‌ पुलिस प्रशासन सख्ती से करवाएगा।

 

 

 

ये भी पढ़े:

ट्वीटर पर टॉप 20 में किस स्थान पर हैं भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी |

1800 लोग हुए ट्रायल के लिए तैयार, दिल्ली एम्स में होगा परीक्षण |

प्रियंका चोपड़ा ने पति निक जोनस को अलग अंदाज़ में लिखा “थैंक्यू नोट”  |

बुध और राहु के संयोग से कई राशियों को होगा नुकसान |