सीमाओं की रक्षा में तैनात हैं योगी आदित्यनाथ के भाई सूबेदार शैलेन्द्र मोहन

सीमाओं की रक्षा में तैनात हैं योगी आदित्यनाथ के भाई सूबेदार शैलेन्द्र मोहन

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के भाई के बारे में कम ही लोग जानते‌ हैं वो सेना में सूबेदार के पद कर हैं और देश की चीन सीमा पर रक्षा में तैनात हैं।

ये ऐसा वक्त है जब सैनिकों के बच्चे भी सेना में बहुत कम जाते हैं। ऐसे में ये बड़े गर्व की बात है कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के भाई सेना‌ में तैनात हैं। बड़ी बात ये भी है कि योगी आदित्यनाथ के भाई किसी बड़ी पोस्ट पर नहीं बल्कि सूबेदार की पोस्ट पर हैं।

मुश्किल है ये वक्त

इस समय जब भारत चीन विवाद गर्माया हुआ है, तो योगी आदित्यनाथ के भाई सूबेदार शैलेन्द्र मोहन भी गढ़वाल की चीन सीमा पर तैनात हैं। वो एक स्पेशल स्काउट्स की टुकड़ी के अंतर्गत तैनात हैं, जो पहाड़ी इलाकों की दुश्मन चीन से मातृभूमि की रक्षा करते हैं।

चीन सीमा पर तनातनी

इस वक्त चीन से हालात नाजुक हैं, ऐसे में सुरक्षा और ड्यूटी के सवालों पर योगी आदित्यनाथ के भाई ने कहा,

‘हम पूरे वर्ष यहां पर देश और मातृभूमि की रक्षा के लिए गश्त करते रहते हैं और आगे भी करते रहेंगे।’

साथ बिताया है बचपन

अपने भाई योगी आदित्यनाथ के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा,

‘दुनिया के लिए जो मुख्यमंत्री हैं और जिन्हें लोग महाराज जी कहकर बुलाते हैं हमने उनके साथ अपना बचपना बिताया है।

योगी आदित्यनाथ के व्यस्त समय और गोरखनाथ मंदिर के गोरक्षपीठाधीश्वर से मिलने को लेकर योगी आदित्यनाथ के भाई सूबेदार शैलेन्द्र मोहन ने कहा,

‘मुख्यमंत्री बनने के बाद उनसे दिल्ली में एक बार मुलाकात हुई थी, तब से अभी तक तो नहीं मिले हैं। वो हमेशा पूरी क्षमता के साथ देश की रक्षा करने की प्रेरणा देते हैं।

कर रहें हैं देश सेवा

सूबेदार शैलेन्द्र मोहन ने अपने और अपने भाई योगी आदित्यनाथ के काम के विषय में कहा,

‘ मैं सीमा पर देश के दुश्मनों से सीमाओं की रक्षा पर तैनात हूं और बड़े भाई योगी आदित्यनाथ जी देश के सबसे बड़े सूबे के मुख्यमंत्री के तौर कार्यरत हैं और हम दोनों ही देश सेवा ही कर रहे हैं।

आपकों बता दें कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के तीन भाई हैं। जिनमें से एक सेना में हैं तो तीसरे सबसे छोटे महेंद्र मोहन हैं। योगी आदित्यनाथ संन्यास के बाद अपने घर नहीं जाते हैं साथ ही मुख्यमंत्री आवास में भी वो अकेले ही रहते हैं। योगी के साथ उनके परिजन नहीं रहते हैं। कोरोनावायरस के कारण उत्तर प्रदेश की व्यवस्थाओं को देखने में योगी आदित्यनाथ इतने व्यस्त थे कि वो अपने पिता के अंतिम संस्कार में भी नहीं जा सके।

 

 

 

HindNow Trending : रिया चक्रवर्ती और उनके भाई से पुलिस ने की पूछताछ | भारत के सामने झुका चीन | 
देश में ज़ारी रहेगा 31 जुलाई तक लॉकडाउन | 7 फिल्म जल्द ही डिज़नी प्लस हॉटस्टार पर होगी रिलीज | 
सलमान खान के पक्ष में बोले शोएब अख्तर |