आरा मशीन से कटे 12 वर्षीय बालक के हाथ का सफल प्रत्यारोपण

एक पिता की सजगता और बौद्धिक कुशलता ने आरा मशीन से कटे हुए 12 वर्षीय बेटे के हाथ को सकुशल बचा लिया। जिसके बाद डॉक्टरों ने प्रत्यारोपण कर उसे जोड़ दिया। जिससे उसका हाथ पुनः ठीक हो गया और भविष्य बच गया। घटना सीतापुर जिले की है। यहां के र्कुदौली गांव निवासी निजी वाहन चालक के 12 वर्षीय बेटे सौरभ शुक्ला का दाहिना हाथ आरा मशीन से कट गया था।

आरा मशीन से कटे 12 वर्षीय बालक के हाथ का सफल प्रत्यारोपण

हाथ कोहनी के ऊपर से अलग हो गया था। यह देख पिता के हाथ पांव फूल गए। इसके बाद भी उन्होंने सजगता और बौद्धिक कुशलता का परिचय देते हुए। कटे हुए हाथ को एक गीले कपड़े में लपेटा। उसके बाद उसे एक पॉलीथीन में रखने के साथ ही फिर उसे आइस बॉक्स में सुरक्षित किया। इतना करने के बाद वह आनन-फानन एक टैक्सी गाड़ी से लखनऊ के गोमतीनगर स्थित एक निजी अस्पताल पहुंचे। यहां पर अस्पताल के निदेशक प्लास्टिक सर्जन डॉ. वैभव खन्ना से मिले और पूरी जानकारी दी।

आरा मशीन से कटे 12 वर्षीय बालक के हाथ का सफल प्रत्यारोपण

डॉ. वैभव खन्ना व हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ. संदीप गर्ग की टीम ने सभी प्राथमिक व आवश्यक चिकित्सा मानकों का पालन करते हुए सर्जरी प्रारम्भ कर दी गई। डॉ. ने बताया कि पॉलिथीन में पलेटने के बाद आइस बॉक्स में रखने से हाथ की स्थित ठीक थी। इसके साथ ही वह समय से पहले ही ले आए। डॉक्टरों की टीम ने चार से छह घंटे में ही सर्जरी शुरू कर दी थी।

आरा मशीन से कटे 12 वर्षीय बालक के हाथ का सफल प्रत्यारोपण

सर्जरी पूरी हो गई और हाथ भी ठीक से जुड़ गया। डॉक्टरों की टीम में डॉ. आर्दश कुमार, डॉ. रोमश कोहली, डॉ. एस.पी.एस. तुलसी, डॉ. प्रमेश अग्रवाल, डॉ. सुबोध कुमार व डॉ. पुलकित सिंह रहें।

 

 

 

 

 

ये भी पढ़े:

सारा अली खान के ड्राइवर को हुआ था कोरोना |

साइको किलर था विकास दुबे, उज्जैन से कानपुर आते समय खोला कई राज |

रॉ के पूर्व अफसर का दावा सुशांत ने आत्महत्या नहीं की है उसका मर्डर हुआ है |

फंदे से लटकता मिला भाजपा नेता का शव  |

मायावती ने खेला विकास दुबे एनकाउंटर पर ब्राह्मण कार्ड |

Leave a comment

Your email address will not be published.