3तलाक कानून के बाद भी महिलाओं पर हो रहा अत्याचार,देखें आंकड़े
/

3 तलाक कानून के बाद भी महिलाओं पर हो रहा अत्याचार, देखें आंकड़े

लखनऊ। तीन तलाक कानून बनने के बाद  आज भी मुस्लिम महिलाएं घरेलू हिंसा और ट्रिपल तलाक की शिकार हो रही हैं। प्रदेश के कई जिलों से रोजाना तीन तलाक के मामले सामने आ भी रहे हैं। हालांकि, पुलिस तलाक पीड़िताओं की शिकायत पर आरोपितों के खिलाफ तत्काल प्रभाव से कार्रवाई कर रही है।

एक रिपोर्ट के मुताबिक,बीते एक साल में करीब 221 आरोपियों चार्जशीट लगाते हुए गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है। जबकि कई लंबित मामलों की विवेचना जारी है। वहीं 5 जोन में लखनऊ पांचवें स्थान पर है। ‌ लखनऊ में 106 तीन तलाक के मामले लंबित पड़े हैं। इनकी जांच चल रही है।

5 जोन के आंकड़े

         जोन          रिपोर्ट       चार्टशीट     एफआर     लंबित

  1. मेरठ           376            31           09          336
  2. आगरा        310           132          27          151
  3. बरेली         268            15            01          262
  4. कानपुर      164             32           08          124
  5. लखनऊ     118            11            00          106
  6.  कुल         1236          221          45          979

45 मामलों में लगी फाइनल रिपोर्ट

दरअसल, बीते वर्ष राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने तीन तलाक विधेयक को मंजूरी दी थी। फिर इस विधेयक पर राष्‍ट्रपति के हस्‍ताक्षर के बाद मुस्लिम महिला (विवाह अधिकार संरक्षण) विधेयक अब कानून बन गया। इस मंजूरी के साथ ही ‘तीन तलाक’ कानून अस्तित्व में आ गया है। पूरे साल 5 शहरों में कुल 1236 तीन तलाक के मुकदमे दर्ज किए जा चुके हैं। जबकि 979 मामले ऐसे हैं, जिनकी तहकीकात पुलिस कर रही है। वहीं 45 शिकायतों की पुष्टि न होने की वजह से इनमें फाइनल रिपोर्ट (एफआर) लगा दी गयी।

मेरठ टॉप, पांचवे स्थान में लखनऊ

पुलिस विभाग के आंकड़ों के मुताबिक, मेरठ जोन के कई थानों में 376 तीन तलाक के मुकदमे दर्ज है। ‌ पुलिस ने 31 मामलों के आरोपितों पर चार्टशीट दायर कर उन्हें जेल भेज दिया है। जबकि दूसरे नंबर पर आगरा जोन का स्थान है। यह साल भर में 310 मुकदमे दर्ज हुए हैं। हालांकि पुलिस ने भी बड़ी तीव्रता के साथ कार्रवाई करते हुए 132 मुकदमों में चार्टशीट लगाई है। ‌
तीसरे नंबर पर बरेली, चौथे पर कानपुर और पांचवे पर लखनऊ का स्थान है। लखनऊ जोन में 118 मामले दर्ज है। ‌ जिसमें पुलिस ने अब तक 11 मुकदमों की चार्टशीट कोर्ट में दायर कर चुकी है। ‌

979 मामले हैं लंबित

तीन तलाक कानून बनने के बाद प्रदेशभर में हजारों मुकदमे पुलिस ने दर्ज किए हैं। मेरठ, आगरा, बरेली कानपुर और लखनऊ की बात करें तो, पीड़ितों की शिकायत पर पुलिस ने अब तक 1236 मुकदमे दर्ज किए हैं। मगर 979 मामले आज भी लंबित पड़े हुए हैं। जिनकी विवेचना चल रही है।
हालांकि, कुछ मामले ऐसे भी प्रकाश में आए थे जिसमें विदेश में रह रहे शौहर ने अपनी पत्नी को व्हाट्सएप, वीडियो कॉल पर तीन तलाक दे दिया है। जिनकी जांच पुलिस कर रही है।

ये भी पढ़े:

रिया की जमानत खारिज करते हुए कोर्ट ने कही ये बात, छूट पाना मुश्किल |

धर्मेंद्र की वजह से टूटा था बॉबी देओल का इस एक्ट्रेस से 5 साल का रिलेशनशिप |

इन बॉलीवुड सितारों ने आज तक नहीं किया फिल्मों में KISS सीन, अब भी भागते हैं दूर |

रियलिटी शोज़ में आये थे बतौर कंटेस्टेंट, आज लेते हैं करोड़ो की फ़ीस |

ये एक्ट्रेस अपने पति से दौलत और शोहरत हर मामले में हैं आगे |