कोरोनावायरस की बनी एक और दवा, भारत सरकार ने दी मंजूरी

भारत में कोरोना वायरस की संख्या चार लाख के पार पहुंच चुकी है इसी बीच दवा कंपनी हेटेरो ने रविवार को बताया कि कोविड-19 के इलाज के लिए इनवेस्टिगेशनल एंटीवायरल ड्रग रेमडेसिवीर (Remdesivir) को लॉन्च  करने जा रही है।

कोरोना में कारगार दवा-

कोरोनावायरस की बनी एक और दवा, भारत सरकार ने दी मंजूरी

कोविड-19 के इलाज़ में कारगार दवा को भारत सरकार ने एक दिन पहले मंज़ूरी दी है। ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स की एक दवा को कोरोना मरीजों के इलाज के लिए भारत सरकार से मंजूरी मिली थी। कोरोना के हल्के लक्षण वाले मरीजों को ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स की दवा दी जा सकेगी. इस दवा को ब्रांड नाम फेबीफ्लू के तहत बेचा जाएगा।

भारत सरकार द्वारा मंज़ूरी –

कोरोनावायरस की बनी एक और दवा, भारत सरकार ने दी मंजूरी

न्यूज़ एजेंसी के अनुसार कंपनी ने बताया है कि इस दवा कंपनी को ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने अप्रूवल मिल चुका है। भारत में इस दवा को Conifer नाम से बेचा जायेगा। इस कंपनी के चेयरमैन डॉ. पार्थ सारथी रेड्डी ने बताया है कि भारत में ये दवा को मंजूरी मिलने के बाद गेम चेंजर साबित हुई है, इस दवा क्लीनिकल स्तर पर सकारात्मक नतीजे है।

इन पर है कारगार –

ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने ये भी बताया कि यह दवा बालिगों और बच्चो में कोरोना वायरस की पुष्टि होने पर या कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से हॉस्पिटल में भर्ती होने पर दी जायेगी।

इस कंपनी के चेयरमैन डॉ. पार्थ सारथी रेड्डी ने बताया है कि कंपनी कोशिस करेगी कि इस उत्पाद को देश भर में जल्द से जल्द कोरोना वायरस के मरीज़ो को उपलब्ध हो सके। कंपनी मौजूदा जरूरत को पूरा करने के लिए पर्याप्त स्टॉक सुनिश्चित करेगी. यह दवा 100 एमजी की शीशी (इंजेक्शन) के रूप में उपलब्ध होगी।

पूरी दुनिया में कोरोना वायरस से निजात पाने के लिए वैक्सीन बनाने का दावा कर रहे है फिलहाल अभी तक इस वायरस से निजात पाने के लिए कोई वैक्सीन नहीं बनी है। कुछ जरूरी दवाओं का उपयोग चिकित्सक कर रहे है।

 

 

 

HindNow Trending: लगातार 72 घंटे तक चीनी सेना से अकेले लड़ते रहे थे जसवंत सिंह रावत | 
सेंट्रल मिनिस्टर नित्यानन्द राय ने पूरी की शहीद के पिता की मांग | 5 चीनी से भिड़ा 1 भारतीय सपूत | कानपुर 
सरकारी बालिका गृह मामला | वर्तमान समय का सबसे बेहतर एक्टर है सुशांत सिंह राजपूत

Leave a comment

Your email address will not be published.