भारतीय सेना ने चीन को दिखा दी थी अपनी ताकत, चीन के चार सैनिकों पर भारी था भारत का एक जांबाज

5 चीनी से भिड़ा 1 भारतीय सपूत, कमांडिंग अफसर के शहीद होते ही जवानों ने 18 चीनियों की गर्दन तोड़ी

भारत और भारतीय सेना की सहजता और शांति को हर बार हल्के में लेकर दुश्मन भारी गलती कर देता है। इसका बड़ा उदाहरण भारतीय सेना के जवानों ने एक बार फिर पेश कर दिया है, जिन्होंने चीनी सैनिकों को उनकी नानी याद दिला दी। हम बिना छेड़े किसी को परेशान नहीं करते, लेकिन जब कोई छेड़ता है, तो फिर उसे किसी कीमत पर छोड़ते भी नहीं हैं, और गलवान घाटी में बिहार रेजीमेंट के भारतीय जवानों ने भी ऐसा ही किया, उन्होंने चीनी सेना और उसके सैनिकों को नाकों चने चबवा दिए।

चुन-चुनकर लिया बदला

दरअसल, 15 जून की रात भारतीय सेना और चीन की सेना के बीच झड़प में कर्नल संतोष बाबू की शहादत के बाद भारतीय सेना की बिहार रेजीमेंट के जवानों ने चीनी सैनिकों को रौंदकर रख दिया, जिसका खुलासा अंतरराष्ट्रीय अखबार ‘द एशियन एज’ ने किया है। जिसमें भारतीय सेना के बिहार रेजीमेंट के इन जवानों की शौर्य गाथा के खूब चर्चे हुए और चीनी सैनिकों को खदेड़ने में भारतीय सेना ने गोलियां चलाए बिना ही अपनी ताकत का सटीक प्रदर्शन कर दिया।

ज्यादा थे चीनी सैनिक

खबरों के मुताबिक उस रात चीनी सैनिकों की संख्या बेहद ज्यादा थे और भारतीय सेना के एक सैनिक पर उनके चार सैनिकों का बड़ा अनुपात था। लेकिन भारतीय सेना इस। मामले को लेकर तैयार भी नहीं थी, वहीं चीनी सेना पूरी प्लानिंग के साथ इस कुकृत्य को अंजाम देने आई थी. इन सबके बावजूद हमारी भारतीय सेना के जवान चीनी सेना पर भारी पड़े और उन्हें उनकी असलीयत दिखाने में जवानों ने ज्यादा समय भी बर्बाद नहीं किया।

शौर्य का किया प्रदर्शन

भारतीय सेना और बिहार रेजीमेंट ने एक बार फिर अपने शौर्य का बख़ूबी परिचय दिया है, जिसके साथ दुश्मन समेत देश के लोगों को सुरक्षित होने का भरोसा दिया. दरअसल भारतीय सेना केवल चीनी सेना के टेंट हटाने की पुष्टि को लेकर उस इलाके में गई थी, लेकिन चीन ने नापाक हरकत करने के साथ ही करनल संतोष बबू पर हमला बोल दिया और इसी के बाद बिहार रेजीमेंट के जवानों का खून ऐसा खौला कि इन भारतीय जवानों ने कुछ ही पलों में 17 चीनी सैनिकों की गर्दन तोड़कर रख दी।

सब्र का टूटा बांध

अपने कर्नल की शहादत के बाद भारतीय सेना के जवानों का सब्र जवाब दे गया और इसके चलते बिहार रेजीमेंट ने पास की टुकड़ी को जानकारी देकर मदद मांगी और चीनी सैनिकों की इतनी बड़ी तादाद होने के बावजूद 60 जवानों ने चीनी सैनिकों को उनकी नानी याद दिला दी. चीनी सैनिकों के पास नुकीले तार वाले हथियार थे, उन्होंने खूब वार किए, लेकिन भारतीय सेना के इध जवानों ने चार घंटों तक चली इस जौग में चीनी सेना को मुंहतोड़ जवाब दिया हमलें के बाद चीनी सैनिक छिप गए, जिन्हें भारतीय सेना के जांबाजों ने ढूंढकर और भागते हुए चीनी सैनिकों को पकड़-पकड़ कर मारा.

 

 

 

HindNow Trending: अगर आपके पास है JIO और एयरटेल तो आपकों मिल रहा ये ऑफर | कौन है सलमान खान |
कोरोनावायरस की बनी एक और दवा | सुशांत सिंह राजपूत की अधूरी फिल्म "वंदे भारतम" | चीन के कपटी चाल
की वजह से हो सकता है तीसरा विश्व युद्ध