थर्मल इमेजिंग ड्रोन भेज चीन ने पता किया भारतीय जवानों की संख्या फिर किया हमला
/

थर्मल इमेजिंग ड्रोन भेज चीन ने पता किया भारतीय जवानों की संख्या फिर किया हमला, 8 घंटे तक निहत्थे लड़ते रहे भारतीय जाबांज

सोमवार देर रात भारत - चीन सीमा पर 8 घंटे चली हिंसक झड़प में भारत के 20 जवान शहीद हो गए पहले 1 कर्नल 2 जवान शहीद होने की पुष्टि हुई परन्तु 17 घायल जवानो मृत्यु होने पर 20  भारतीय जवान घायल

SENSITIVE MATERIAL. THIS IMAGE MAY OFFEND OR DISTURB Indian army soldiers carry the body of their colleague, who was killed in a border clash with Chinese troops, to an autopsy centre at the Sonam Norboo Memorial Hospital in Leh, June 17, 2020. REUTERS/Stringer NO ARCHIVES. NO RESALES.

सोमवार देर रात भारत – चीन सीमा पर 8 घंटे चली हिंसक झड़प में भारत के 20 जवान शहीद हो गए पहले 1 कर्नल 2 जवान शहीद होने की पुष्टि हुई परन्तु 17 घायल जवानो के मृत्यु होने पर 20  भारतीय जवान के शहीद होने की खबर आई. सूत्रों के अनुसार चीन ने थर्मल इमेजिंग ड्रोन से भारतीय जवानों को ट्रेस किया फिर अपने सैनिक बढ़ा कर LAC  पर हमला करा दिया भारतीयों के जवाबी हमले में चीन के 40 जवान मारे जाने की खबर है परन्तु चीन ने इस बात पर चुप्पी साध रखी है.

सुरक्षा मामलो पर कैबिनेट कमेटी की बैठक-

देर शाम सुरक्षा मामलो पर कैबिनेट कमेटी की बैठक बुलाई व  LAC के हालातो पर चर्चा की बैठक में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह व गृहमंत्री अमित शाह , विदेश मंत्री एस जय शंकर मौजूद रहे.

और पढ़ें: कोरोना से लड़ने के लिए प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने ही नहीं इन 5 रोगों से भी छुटकारा दिला सकता है तुलसी मिल्क

नहीं चली गोली –

LAC विवाद पर भारत चीन सीमा पर 8 घंटे की हिंशक झड़प में आधी रात को सैनिको के बीच जमकर खूनी झड़प हुई परन्तु एक भी गोली नहीं चली चीनी सैनिकों ने भारतीय कमांडिंग अफसर संतोष बाबू व दो सैनिको को डंडे से मार कर बुरी तरह घायल कर दिया आधी रात हिंसक झड़प में दोनों तरफ के जवान हताहत हुए.

सड़क निर्माण कार्य से शुरू हुआ सीमा विवाद –

भारत सीमा पर सड़क निर्माण कार्य दोनों देशो के विवाद का कारण है 2018 – 2019 की सलाना रिपोर्ट में भारत के रक्षामंत्रालय ने बताया था कि भारत-चीन सीमा पर 3812 किलोमीटर इलाका सड़क निर्माण के लिए चिन्हित है, पहले भी कई बार दोनों सेनाओ के बीच झड़प हो चुकी है डोकलाम विवाद के पहले 2013-2014 में चुमार में कई घटनाये सामने हुई थी.

चीन के भी 40 सैनिक मारे जाने की खबर

चीन के साथ झड़प में भारत के 20 जवान शहीद हो गए, 135 जख्मी हैं। इनमें से 4 की हालत गंभीर है।. भारतीय जवानों की पार्थिव देह और घायल जवानों को लाने के लिए मंगलवार को सेना के हेलिकॉप्टर्स ने 16 बार उड़ान भरी, चार जवानों की देह बुधवार को लेह पहुंचाई गई. चीन के भी 40 सैनिक मारे जाने की खबर है, लेकिन उसने यह कबूला नहीं है.

8 घंटे तक हुई झड़प

भारतीय सेना के शहीद कर्नल संतोष बाबू झड़प से पहले सेना की एक छोटी सी टुकड़ी लेकर बॉर्डर पर देखने गये कि चीन ने वादे के मुताबिक अपने जवानों को वहां से हटाया या नहीं, लेकिन जब वो वहां पहुंचे तो चीन के सैनिको ने उनके उपर हमला कर दिया और भारतीय सेना के जवाब 8 घंटे तक निहत्थे लड़ते रहे.

सूत्रों की माने तो चीन ने भारतीय सैनिको को काफी पीड़ित किया, उनके मुंह में बंदूक डाल कर और कई तरह के हथियार का इस्तेमाल कर भारतीय जवानों को काफी पड़ताड़ित किया.

इसे भी पढ़े: सुशांत सिंह राजपूत की बहन ने अपने 5 साल के बेटे को बताया “मामा नहीं रहे” भांजे ने कही दिल छु लेने वाली बात