सुशांत सिंह राजपूत की बहन ने अपने 5 साल के बेटे को बताया &Quot;मामा नहीं रहे&Quot; भांजे ने कही दिल छु लेने वाली बात

सुशांत सिंह राजपूत की सुसाइड की खबर से उनका परिवार सदमे में है, वही फिल्म इंडस्ट्री के लोगो ने अपने अपने अंदाज़ में शोक व्यक्त किया सोमवार को पार्ले श्मशान में उनका अंतिम संस्कार हुआ. आपकों बता दें कि अभिनेता ने रविवार को अपने मुंबई स्थित घर में फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली थी, जिसकी खबर उनके नौकर ने पुलिस को दी थी.

सुशांत सिंह राजपूत की बहन ने अपने 5 साल के बेटे को बताया &Quot;मामा नहीं रहे&Quot; भांजे ने कही दिल छु लेने वाली बात

अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के अंतिम संस्कार में उनके पिता, बहन , चाचा व पारिवारिक लोग शामिल हुए दरअसल उनकी बहन श्वेता कीर्ति सिंह विदेश में रहती हैं, जिसके कारण वह अंतिम संस्कार में शामिल नहीं हो सकी, परन्तु उन्होंने अपने फेसबुक अकाउंट पर शोक जाहिर किया व उन्होंने बताया कि जब उन्होंने अपने पांच साल के बेटे को खबर सुनाई तो उसने दिल छू जाने वाली बात कही.

और पढ़ें: कोरोना से लड़ने के लिए प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने ही नहीं इन 5 रोगों से भी छुटकारा दिला सकता है तुलसी मिल्क

दिल में जिन्दा हैं मामा –

 

श्वेता कीर्ति सिंह ने अपने फेसबुक अकाउंट पर पोस्ट में लिखा कि जब मैंने अपने बेटे को ये खबर सुनाई कि उसके मां नहीं रहे तो उसने तीन बार एक ही बात कही, उसने कहा कि ‘वह आपके दिल में जिंदा हैं.’ फेसबुक पर की गई इस इमोशनल पोस्ट पर उन्होंने आगे लिखा ‘जब एक पांच साल का बच्चा ऐसा कह सकता है, तो सोचें कि हम सभी को कितना मजबूत होना चाहिए.’

 

 

View this post on Instagram

 

With the loving Mamu ???????????? #sushantsinghrajput #beautifulmoments

A post shared by Shweta Singh kirti (@shwetasinghkirti) on Jul 6, 2017 at 12:34pm PDT

उनकी बहन ने पोस्ट में लिखा कि वह जल्द भारत आना चाहती हैं, परन्तु टिकट नहीं मिल पा रही है, उन्होंने मदद मांगी जिसके बाद अब वह   भारत आ सकती हैं, फिर उन्होंने लिखा कि कोरोना के चलते अब वह क्वारेंटीन को लेकर भी चिंतित हैं.

आपकों बता दें कि इस समय विदेशो के लिए सभी फ्लाइट कैंसिल की गयी हैं, लेकिन विदेशो से आने वाले लोगों को 14 दिनों तक सबसे दूर एकांत में रखा जा रहा है.

इसे भी पढ़े: थर्मल इमेजिंग ड्रोन भेज चीन ने पता किया भारतीय जवानों की संख्या फिर किया हमला, 8 घंटे तक निहत्थे लड़ते रहे भारतीय जाबांज

Leave a comment

Your email address will not be published.