ई-कॉमर्स कंपनियों के लिए सरकार बनाएगी ये नियम, फ्लिपकार्ट और अमेजन को बताना होगा कहां बना है प्रोडक्ट

नई दिल्ली: भारत ई-कॉमर्स कंपनियों का बड़ा मार्केट है जहां फ्लिपकार्ट और अमेजन के जरिए भारतीय खूब शॉपिंग करते हैं। लेकिन भारत और चीन के बढ़ते विवाद को देखते हुए भारत सरकार अब भारतीयों को सुविधा देने वाली है जिससे लोगों को पता चल जाएगा कि कोई भी प्रोडक्ट किस देश में बना है।

ई-कॉमर्स कंपनियों के लिए सरकार बनाएगी ये नियम, फ्लिपकार्ट और अमेजन को बताना होगा कहां बना है प्रोडक्टसरकार लाएगी नियम

सरकार फ्लिपकार्ट और अमेज़न जैसी ई-कॉमर्स कंपनियों के लिए हर प्रोडक्ट पर country of origin बताना अनिवार्य कर दिया है। DPIIT ने ई कॉमर्स कंपनियों से कहा है कि उनके प्लेटफार्म पर प्रॉडक्ट के बारे में ये जानकारी देना अनिवार्य होगा कि प्रॉडक्ट कहाँ से आया या कहाँ बना है और प्रोडक्ट बनाने वाली कंपनी कहां की है।

अपडेट करनी होगी डिटेल्स

ई-कॉमर्स वेबसाइट में काम करने वाले लोगों के लिए भी ये आसान नहीं होगा। GeM के नए फीचर लागू होने से पहले जिन विक्रेताओं ने अपने प्रोडक्ट अपलोड किए हुए हैं, उनको भी मूल देश को अपडेट करना होगा। इसके लिए उन्हें लगातार रिमाइंडर भेजे जाएंगे। रिमाइंडर के बाद भी प्रोडक्ट पर जानकारी अपडेट नहीं करने पर प्रोडक्ट को प्लेटफॉर्म से हटा दिया जाएगा और ये नियम सख्ती से लागू होंगे।

आपको बता दें कि इस मामले में ई-कॉमर्स कंपनियों ने सरकार से इस फैसले को लेकर थोड़ा और वक़्त मांगा है। खबरों के मुताबिक – ई-कॉमर्स कम्पनीज ने सरकार के कदम को अवनाने की बात कही है लेकिन लागू करने में थोड़ा वक्त मांगा जो कि प्रोसेसिंग के लिए आवशयक भी है।

सरकार का बड़ा फैसला

मेक इन इंडिया और आत्मनिर्भर भारत मिशन को बढ़ाने के मकसद से सरकार ने हाल ही में बड़ा फैसला किया है। सरकारी ई-मार्केटप्लेस (GeM) पर प्रोडक्ट रजिस्टर करने के लिए ‘कंट्री ऑफ ओरिजन’ बताना जरूरी हो जाएगा। सभी विक्रेताओं को अपने प्रोडक्ट के मूल देश (country of origin) की जानकारी देनी ही होगी जिससे ग्राहकों को प्रोडक्ट से जुड़ी पूरी जानकारी मिल सकेगी।

 

 

 

ये भी पढ़े:

विकास दुबे की पत्नी ऋचा अभी भी है समाजवादी पार्टी की सक्रिय सदस्य |

रोज सिर्फ 4 घंटे अमेजॉन में काम कर आप कमा सकते हैं महीने में 50 से 60 हजार |

विकास दुबे पर अब पांच लाख का इनाम |

फ़िल्मी सितारों को है काफी अजीबोगरीब आदत |

Leave a comment

Your email address will not be published.