कंगना के समर्थन में उतरा अंबानी परिवार, बनवाएंगे नया ऑफिस
/

कंगना के समर्थन में उतरा अंबानी परिवार, टूटे बंगले का निर्माण कराएंगे मुकेश अम्बानी !

अभिनेत्री कंगना रनौत की बयानबाजी के कारण बिफरी महाराष्ट्र सरकार के आदेश पर बीएमसी ने कंगना के पाली हिल स्थित कार्यालय के अवैध निर्माण को ढहा दिया था।

मुम्बई– अभिनेत्री कंगना रनौत की बयानबाजी के कारण बिफरी महाराष्ट्र सरकार के आदेश पर बीएमसी ने कंगना के पाली हिल स्थित कार्यालय के अवैध निर्माण को ढहा दिया था। बीएमसी ने 24 घंटे पहले कंगना रनौत के बंगले पर नोटिस चिपकाया था और फिर महज एक दिन बाद ही उनका बंगले में तोड़फोड़ कर दी। वहीं बीएमसी की इस कार्रवाई के खिलाफ कई लोगों ने अपनी आवाज बुलंद की थी और इस कार्रवाई को गलत बता का कंगना के साथ खड़े हुए।

सूत्रों के अनुसार अब कंगना रनौत के समर्थन में अंबानी परिवार भी उतर आया है। सूत्रों ने यहां तक दावा किया कि कंगना के बंगले का नए सिरे से निर्माण मुकेश अंबानी कराएंगे। ये खबर दिन भर सोशल मीडिया पर चलती रही। इस खबर पर लोग कई तरह के कमेंट करते रहे। अभी तक इस खबर कि पुष्टि न तो मुकेश अंबानी की ओर से की गई है और न ही कंगना रनौत की तरफ से।

कोरोना संकट में मसीहा बन कर उभरे मुकेश अंबानी

मुकेश अंबानी पहले भी लोगों की मदद कर चुके हैं। वो हमेशा से लोगों की मदद करते आये हैं। रिलायंस इंडस्ट्रीज ने कोरोना संकट के दौरान अपने स्थायी और ठेका पर काम करने वाले कर्मचारियों को पूरा वेतन दिया था। वहीं कोरोना वायरस से पीड़ित मरीजों को ले जाने वाले आपातकालीन वाहनों को मुफ्त में ईंधन उपलब्ध कराया। वहीं रिलायंस फाउंडेशन उन लोगों को मुफ्त में खाना भी उपलब्ध कराया जिनकी इस महामारी के कारण आजीविका प्रभावित हुई।

2017 में कंगना ने खरीदा था यह बंगला

कंगना रनौत ने 2017 में यह बंगला खरीदा था और इस साल जनवरी में इसकी साज-सज्जा पूरी हुई थी। बीएमसी के 1979 के प्लान के मुताबिक यह बंगला आवासीय संपत्ति के तहत लिस्टेड है। बीएमसी अफसरों का कहना है कि कंगना के दफ्तर के अंदर कई अवैध निर्माण किए गए हैं और इसलिए कार्रवाई की गई। इस मामले में बॉम्बे हाईकोर्ट पहुंची कंगना को राहत मिली है। कोर्ट ने तोड़फोड़ पर रोक लगा दी।

कई हस्तियों ने की बीएमसी की निंदा

बीएमसी द्वारा कंगना के ऑफिस में की गई तोड़फोड़ को लेकर कई हस्तियों ने निंदा की है। पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि किसी ने आपके (उद्धव ठाकरे) खिलाफ बात कही, इसलिए अगर आप तब कार्रवाई करते हो तो ये कायरता है बदले की भावना है। वहीं हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर बोले, महाराष्ट्र सरकार का आचरण है ये दुर्भाग्यपूर्ण है। मैं इसकी भर्त्सना करता हूं। शरद पवार ने भी बीएमसी की कार्रवाई को गैर जरूरी करार दिया।

नोट: इस खबर की पुष्टि “हिन्द नाउ” नहीं करती है। ये खबर सोशल मीडिया पर उपलब्ध सामग्री के आधार पर बनाई गई है और इस खबर की सच्चाई हमारी टीम द्वारा पता की जा रही है।

 

 

 

ये भी पढ़े:

रिया ने कहा NCB ने जबरदस्ती कबूल कराए आरोप, मै निर्दोष हूँ |

सौरव गांगुली के साथ शाहरुख ने दुर्व्यवहार कर टीम से किया था बाहर छीन ली थी कप्तानी |

जैकलिन को KISS करते हुए टाइगर श्राफ ने पार की थी सभी हदें, डायरेक्टर ने बताई पूरी कहानी |

विनोद खन्ना ने मुकेश भट्ट को ताबड़तोड़ जड़ दिए थे कई थप्पड़, जानिए वजह |

सोने व चांदी के भाव में आज हुआ बड़ा बदलाव, जानिए 10 ग्राम का भाव |