'किसी के बाप का हिंदुस्तान थोड़ी है' कुछ यूं किया था राहत इंदौरी ने CAA का विरोध
/

‘किसी के बाप का हिंदुस्तान थोड़ी है’ कुछ यूं किया था राहत इंदौरी ने CAA का विरोध

''किसी के बाप का हिंदुस्तान थोड़ी है'', राहत इंदौरी की ये लाइन नागरिकता संशोधन कानून और भारतीय नागरिक रजिस्टर के विरोध में प्रदर्शकारियों के लिए बुलंद आवाज बनी।

इंदौर– ”किसी के बाप का हिंदुस्तान थोड़ी है”, राहत इंदौरी की ये लाइन नागरिकता संशोधन कानून और भारतीय नागरिक रजिस्टर के विरोध में प्रदर्शकारियों के लिए बुलंद आवाज बनी। सीएए-एनआरसी के विरोध प्रदर्शन के दौरान राहत इंदौरी की इस शायरी ने खूब सुर्खियां बटोरी। विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों के हाथों में मशहूर उर्दू शायर राहत इंदौरी के इस शेर के पोस्टर भी देखे गए।

असदुद्दीन ओवैसी ने किया ट्वीट

राहत इंदौरी (70) का मंगलवार शाम निधन हो गया। एआईएमआईएम चीफ और हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने ट्वीट कर कहा, राहत इंदौरी के देहांत की खबर सुनकर स्तब्ध हूं। यह एक निजी नुकसान है। अल्लाह उन्हें मगफिरत फरमाएं और उनकी कब्र को रौशन करें। उन्होंने 25-26 जनवरी की वह क्लिप भी शेयर की जिसमें उन्होंने अपने शेर के जरिए केंद्र सरकार को निशाने पर लिया।
मं

गलवार की सुबह ही उन्होंने ट्वीट करके कोरोना टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आने की सूचना दी थी। साथ ही जल्दी ठीक होने की दुआ की अपील भी की थी। राहत इंदौरी ने इंदौर के अरविंदो अस्तपाल में अंतिम सांस ली।

दो बार आया हार्टअटैक

अरबिंदो मेडिकल कॉलेज के चेयरमैन डॉ. विनोद भंडारी ने बताया कि राहत साहब की शुगर बढ़ी हुई थी। सुबह तक तो वे ठीक थे, लेकिन दोपहर में अचानक उनकी तबीयत बिगड़ी और उन्हें हार्ट अटैक आया। इलाज के दौरान उनमें कुछ सुधार आ, लेकिन दो घंटे बाद दूसरा अटैक आया और फिर उन्हें बचाया नहीं जा सका।

कुमार विश्वास ने भी किया ट्वीट

इंदौरी साहब के निधन पर शायरी और कविता जगत में मातम जैसा माहौल पनपा है। उनके साथी शायरों, दोस्तों, चाहनेवालों और फैंस ने उनके निधन पर दुख, संवेदना और हैरानी जताई। इन्हीं में से एक हैं कुमार विश्वास। उन्होंने ट्वीट कर कहा- हे ईश्वर! बेहद दुखद! इतनी बेबाक़ ज़िंदगी और ऐसा तरंगित शब्द-सागर इतनी ख़ामोशी से विदा होगा, कभी नहीं सोचा था!

राहत इंदौरी की पूरी लाइन जो आंदोलनकारियों का हथियार बनी

“लगेगी आग तो आएंगे घर कई जद में
यहां पे सिर्फ हमारा मकान थोड़ी है,
जो आज साहिबे मसनद हैं कल नहीं होंगे
किराएदार हैं, जाती मकान थोड़ी है,
सभी का खून है शामिल यहां की मिट्टी में
किसी के बाप का हिन्दोस्तान थोड़ी है!”

 

 

 

ये भी पढ़े:

WHO ने फिर भरी लोगों में निराशा, वैक्सीन कोई जादुई गोली नहीं लगाते ही कोरोना खत्म |

संजय दत्त को थर्ड स्टेज का लंग कैंसर, इलाज के लिए अमेरिका रवाना |

सपना चौधरी ने ऋतिक रोशन की तरह किया डांस |

किसने कहा पिता की दूसरी शादी से आहत होकर सुशांत ने की आत्महत्या |

SPL टीमों के सामने आए नाम, आईपीएल से मिलते हैं सभी नाम |