रॉकेट जैसी तेज गेंदबाजी करते थे ये खिलाड़ी, बल्लेबाज ढूढ़ते थे इनके सामने बल्लेबाजी से बचने का तरीका

क्रिकेट में बल्लेबाजों के साथ ही गेंदबाजों को भी महत्व दिया जाता है। क्रिकेट (Cricket) जगत में वैसै तो एक से बढ़कर एक गेंदबाज ऐसे आए, जिनकी गेंदें रॉकेट जैसी तेज थी और बल्लेबाजों के लिए ऐसे बॉलरों का सामना करना किसी भयानक सपने से कम नहीं था। वहीं कुछ तेज गेंदबाजों का नाम  क्रिकेट इतिहास में मौजूद है, जिसका खौफ बल्लेबाजों में देखा गया। आज इस आर्टिकल में कुछ ऐसे ही तेज गेंदबाजों के बारे में बात करेंगे।

शोएब अख्तर

Cricket

इस लिस्ट में सबसे पहले नंबर पर है पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर (Shoaib Akhtar) का नाम, जिनकी तेज रफ्तार गेंदों के सामने अच्छे-अच्छे बल्लेबाज खौफ में चले जाते थे। इसके साथ ही विश्व में सबसे तेज गेंद फेंकने का रिकॉर्ड शोएब ने अपने नाम कर रखा है। उनका ये रिकॉर्ड आज तक कोई और गेंदबाज नहीं तोड़ पाया है। वहीं अगर उनके Cricket करियर की बात करें तो बता दें शोएब ने पाकिस्तान के लिए 46 टेस्ट मैच में 25.7 औसत से 178 विकेट अपने नाम किया था।

Cricket

जबकि 163 एकदिवसीय मैच में उन्होंने 24.98 के औसत से 247 विकेट अपने नाम किए थे। 15 टी20 मैच में शोएब अख्तर ने 22.74 के औसत से 19 विकेट हासिल किए थे। अख्तर ने अपने करियर की सबसे तेज गेंद 2003 विश्व कप में इंग्लैंड के खिलाफ फेंकी थी, जोकि 161.3 kmph के गति की है। इस गेंदबाज के अपने करियर में कई बार 150 का आकड़ा पार किया था, जोकि बहुत ज्यादा मुश्किल कहा जाता था।

ब्रेट ली

Cricket

 

इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर है ऑस्ट्रेलिया के खूंखार गेंदबाज ब्रेट ली ()का नाम, जिन्होंने अपनी जादुई और खतरनाक बाउंसर गेंदें डालकर सभी बल्लेबाजों के रौंगटे खड़े कर दिए थे। बता दें ब्रेट ली ने ऑस्ट्रेलिया को Cricket के तीनों फॉर्मेट में कई मैच जिताए थे। इस खिलाड़ी ने टेस्ट में 310, वनडे में 380 और टी20 में 28 शिकार किए।

Cricket

वहीं आईपीएल में भी मैच खेलकर ब्रेट ली ने 25 शिकार किए। ब्रेट ली के आंकड़े कमाल के हैं लेकिन इन आंकड़ों से भी ऊपर उनका खौफ था जो उनके वक्त के हर बल्लेबाज के जहन में रहता था। इसके साथ ही 25 टी20 मैच में उन्होंने 25.5 के औसत से 28 विकेट हासिल किए थे। ली ने अपने करियर की सबसे तेज गेंद साल 2005 में न्यूजीलैंड के खिलाफ ब्रिसबेन में फेंकी थी, जिसकी गति 161.1 kmph की थी।

शॉन टैट

Cricket

 

 

इस लिस्ट में तीसरे नंबर पर है ऑस्ट्रेलिया के शॉन टैट (Shaun Tait) का नाम, जिन्होंने भी अपनी खतरनाक गेंदबाजी से सभी बल्लेबाजों के होश उड़ा दिए थे। उनकी गति के मामले में आज तक कोई तोड़ नहीं नजर आया है। इस तेज गेंदबाज का भी करियर बहुत ज्यादा बड़ा नहीं रहा था लेकिन उन्होंने अपनी गति से छोटे करियर में भी कमाल का प्रदर्शन किया है, जो उनके बारें में साफ़ बताता है।

Cricket

इसके साथ ही Cricket के सीमित ओवर फ़ॉर्मेट में वो शानदार गेंदबाज थे। शॉन टैट ने ऑस्ट्रेलिया के लिए 3 टेस्ट मैच में 60.4 के औसत से 5 विकेट ही हासिल किए, लेकिन 35 एकदिवसीय मैच में उन्होंने 23.56 के औसत से 62 विकेट लिया। जबकि 21 टी20 मैच में उन्होंने 21.04 के शानदार औसत से 28 विकेट भी अपने नाम किए था।

Cricket

टैट ने इंग्लैंड के खिलाफ अपने करियर की सबसे तेज गेंद फेंकी थी। जोकि 161.1 kmph की है। इस खिलाड़ी का करियर चोटों के कारण बड़ा नहीं हो पाया और फॉर्म से भी इसी कारण वो जूझते हुए ही नजर आए थे। टैट बहुत प्रतिभाशाली गेंदबाज थे। वहीं मात्र 28 साल की उम्र में उन्होंने संन्यास ले लिया था।

जेफ थोमसन

Cricket

इस लिस्ट में चौथे नंबर पर है ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज जेफ थोमसन (Jeff Thomson) का नाम, जिन्होंने भी अपनी घातर गेंदबाजी से सभी बल्लेबाजों के पसीने छूटा दिए थे। इनका नाम क्रिकेट इतिहास में सुनहरे अक्षरों से दर्ज किया गया है। वहीं अगर बात करें जेफ के रिकॉर्ड की तो बता दें इनका रिकॉर्ड भी काफी शानदार रहा है। जेफ ने ऑस्ट्रेलिया टीम के लिए 51 टेस्ट मैच में 28 के औसत से 200 विकेट हासिल किए थे। जबकि 50 एकदिवसीय मैच के करियर में उन्होने 35.31 के औसत से 55 विकेट अपने नाम किए थे।

इसके साथ ही जेफ अपनी तेज गति के लिए पहचाने जाते हैं। थोमसन ने अपने करियर की सबसे तेज गेंदबाज वेस्टइंडीज के खिलाफ साल 1975 में ही पर्थ के मैदान पर फेंका था। जब उन्होंने 160.6 kmph की गति से फेंका था। उनका नाम आज भी बहुत ज्यादा सम्मान के साथ लिया जाता है।

मिचेल स्टार्क

Cricket

इस लिस्ट में पांचवे नंबर पर है मिचेल स्टार्क (Mitchell Starc) का नाम, जिन्होंने अपनी घातक गेंदबाजी से इतिहास के पन्नों में अपना नाम दर्ज करवा रखा है। इस लिस्ट में एक मात्र वे ऐसे गेंदबाज है जोकि अपने आप में एक शानदार उपलब्धि है। बता दें मिचेल ने अपने करियर में 57 टेस्ट मैच ऑस्ट्रेलिया के लिए खेले है, जिसमें उन्होंने 26.98 के औसत से 244 विकेट अपने नाम किये हैं। जबकि 91 एकदिवसीय मैच में 22.23 के औसत से 178 विकेट और 31 टी20 मैच में 18.65 के औसत से 43 विकेट अपने नाम किए थे।

स्टार्क ने अपने करियर की सबसे तेज गेंद 2015 में न्यूजीलैंड के खिलाफ फेंकी थी. जब उन्होंने 160.4 kmph के गति से गेंद फेंकी थी। अभी भी स्टार्क खेल रहे हैं। जबकि उनकी टीम को उम्मीद है की वो अपना ये रिकॉर्ड भी जरुर एक दिन तोड़ देंगे, जोकि बहुत शानदार होगा।